उत्तराखंड में दूसरे दिन भी बारिश और बर्फबारी का दौर जारी है. वहीं मसूरी और ऋषिकेश में सुबह जमकर ओले गिरे. लगातार बारिश से समूचा उत्तराखंड शीतलहर की चपेट में आ गया. वहीं, दूसरे दिन भी अधिकांश जनपदों में स्कूलों को बंद कर दिया गया है. सोमवार शाम से शुरू हुआ बर्फबारी और बारिश का क्रम बुधवार सुबह भी जारी रहा. गढ़वाल और कुमाऊं की पहाड़ियां बर्फ से सफेद हो गई है. लंबे इंतजार के बाद मसूरी में भी पर्यटक पहुंचकर हिमपात का लुत्फ उठा रहे है.

बुधवार की सुबह भी चमोली में मौसम खराब रहा. रुक-रुककर बारिश के साथ ही ऊंची चोटियों में हिमपात हो रहा है. रुद्रप्रयाग जिले में भी यही स्थिति है. केदारनाथ व ऊंची पहाड़ियों में बर्फबारी का दौर जारी है. वहीं, गढ़वाल के अन्य जिलों के साथ ही देहरादून में बारिश का दौर जारी है.

केदारनाथ सहित अन्य ऊंचे क्षेत्रों में बर्फबारी हो रही है. रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे बांसबाड़ा में बंद पड़ा हुआ है. वहीं मंगलवार को केदारघाटी, कालीमठ घाटी, मद्महेश्वर घाटी के ऊपरी गांवों में देर शाम तक बर्फबारी होती रही. यहां चार फीट तक बर्फ जमने से पैदल रास्ते बंद हो गए है.

बर्फबारी का लुत्फ लेने उत्तरकाशी पहुंचे गुजरात के पर्यटकों की गाड़ी धरासू-यमुनोत्री हाईवे पर सिल्क्यारा बैंड के पास फंस गई. बर्फबारी का सिलसिला जारी रहने और सड़क अवरुद्ध होने से वाहन में 12 पर्यटक फंसे हुए है. इन पर्यटकों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने के लिए पुलिस की टीम भेजी गई है.

यमुनोत्री क्षेत्र सहित पूरी यमुनाघाटी मे सोमवार मध्य रात्री से बारिश व हिमपात रुक-रुक कर बुधवार सुबह तक जारी रहा. जिसके चलते यमुना घाटी में मंगलवार दोपहर तीन बजे से बिजली ठप है. क्षेत्र मुख्यालय से सम्पर्क अभी भी कटा हुआ है. जबकि यमुनोत्री क्षेत्र से लगे दर्जन भर गांव के ग्रामीण घरों में कैद हो गए है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top