रामनाथ कोविन्द से राष्ट्रपति भवन में रविवार को उत्तराखण्ड सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग के उपनिदेशक एवं झांकी के टीम लीडर के०एस० चौहान के नेतृत्व में 26 जनवरी को राजपथ पर प्रदर्शन हेतु चयनित “अनासक्ति आश्रम” पर आधारित उत्तराखण्ड की झांकी के कलाकारों से भेंट की. राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द द्वारा उत्तराखण्ड की लोक संस्कृति एवं वेश-भूषा की प्रशंसा की गयी.

गौरतलब है कि 26 जनवरी को राजपथ पर प्रदर्शन के लिए चयनित विभिन्न राज्यों की झांकियों के कलाकरों के साथ ही उत्तराखण्ड की झांकी के कलाकारों को भी राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में आमंत्रित किया गया था.

उत्तराखण्ड राज्य की झांकी के अग्रभाग में अनासक्ति योग लिखते हुए महात्मा गांधी जी की बडी आकृति को दिखाया गया है. मध्य भाग में कौसानी स्थित अनासक्ति आश्रम को दिखाया गया है तथा आश्रम के दोनों ओर पर्यटक योग व अध्ययन करते हुए नागरिकों व पण्डित गोविन्द बल्लभ पंत को महात्मा गांधी जी से वार्ता करते हुए दिखाया गया है. झांकी के पृष्ठ भाग में देवदार के वृक्ष, स्थानीय नागरिकों व ऊंची पर्वत श्रृंखलाओं को दिखाया गया है. साइड पैनल में उत्तराखण्ड की सांस्कृतिक विरासत, जागेश्वर धाम, बद्रीनाथ तथा केदारनाथ मंदिर को दर्शाया गया है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top