एक बार फिर से भारतीय सेना का जवान हनीट्रैप का शिकार हो गया…जिसने कुछ अश्लील फोटो औऱ पैसों के लिए गुप्त सूचनाएं सोशल मीडिया पर साझा कर दी. पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा सोशल मीडिया पर बिछाए हनी ट्रैप के जाल में फंसकर गोपनीय सूचनाएं लीक करने आरोप में एक जवान की गिरफ्तार हुआ. जो की isi अनिका चोपड़ा नामक प्रोफाइल से फेसबुक पर बातचीत करता था। सेना ने इस कार्रवाई की पुष्टि की है।

अनिका चोपड़ा नाम से भेजी अश्लील तस्वीरें औऱ दिए 5000 रुपये

हेलो-हाय के मेसेज के साथ शुरू हुई बातचीत के बाद आर्मी जवान को पाकिस्तानी एजेंट ने अनिका चोपड़ा नाम से अश्लील तस्वीरें भेज दीं। इसके बाद जवान सोमवीर ने उसे बदले में आर्मी से जुड़ी गुप्त जानकारियां भेज दीं। इसके बाद सोमवीर को जाल में फंसाने के लिए पाकिस्तानी एजेंट ने जवान को कुछ और अंतरंग तस्वीरें भेजी और फिर इसके एवज में जवान ने आर्मी से संबंधित गुप्त जानकारी समेत टैंक, हथियारों से लैस वीइकल, हथियारों और आर्मी कंपनियों की स्थिति की जानकारी उस एजेंट को भेजी थीं। यही नहीं इसके बदले में पाक एजेंट ने जवान को 5,000 रुपये भी दिए थे.

गिरफ्तार करने के बाद कोर्ट में पेश किया गया

जवान को गिरफ्तार करने के बाद कोर्ट में पेश किया गया है। अब ज्वाइंट इंटेलीजेंस कमेटी उससे पूछताछ करेगी। फिलहाल कोर्ट ने उसे 18 जनवरी तक के लिए रिमांड पर भेज दिया है। हालांकि जानकारी के बेहद संवेदनशील होने की संभावना नहीं है, क्योंकि जवान बहुत जूनियर है और उच्चस्तरीय सूचनाएं उसकी पहुंच से बाहर है।

जवान राजस्थान के जैसमलेर जिले की छावनी में तैनात

जवान की पहचान सोमवीर के रूप में हुई है। वह राजस्थान के जैसमलेर जिले की छावनी में तैनात है। हरियाणा के रहने वाले सोमवीर ने वर्ष 2016 में भारतीय सेना जॉइन की थी. जांच में पता चला कि इस अकाउंट का संचालन पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की तरफ से किया जाता था। इस एकाउंट को आईएसआई की ओर से बनाने का मकसद सेना की गोपनीय सूचनाएं हासिल करना था। इस खुलासे के बाद सेना अब सभी तरह के संदिग्ध फेसबुक अकाउंट को खंगालने में जुटी है, जिनका कनेक्शन पाकिस्तान से होने की आशंका है।  चैट से शुरू हुई बात, फिर विडियो कॉलिंग तक पहुंचे.

दोनों के बीच मेसेज के जरिए होने वाली बातचीत धीरे-धीरे विडियो चैट तक पहुंची

सोमवीर पाकिस्तानी एजेंट के शिकंजे में कैसे फंसा? इस बात का जवाब देते हुए एक अधिकारी ने बताया कि तकरीबन 7 महीने पहले, एक आईएसआई एजेंट ने सोशल नेटवर्किेंग प्लैटफॉर्म पर उससे दोस्ती की, जिसका नाम अनिका चोपड़ा लिखा हुआ था। उन दोनों के बीच मेसेज के जरिए होने वाली बातचीत धीरे-धीरे विडियो चैट तक पहुंच गई। इस दौरान दोनों के बीच सेक्शुअल मेसेज का दौर शुरू हो गया। इसके बाद रणनीति के तहत सोमवीर से इन्फर्मेशन हासिल की गई होगी।’

अनिका चोपड़ा नाम से सुरक्षा में सेंध की कोशिश

पुलिस को इस बात का शक है कि ‘अनिका चोपड़ा’ नाम का सोशल अकाउंट फर्जी था और इसे मूलरूप से पाकिस्तान के कराची शहर में बनाया गया है।  इस बात का जिक्र करते हुए एक अधिकारी ने कहा, ‘आरोपी अनिका के साथ बहुत ज्यादा अंतरंग संदेश साझा कर रहा था।’





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top