कोटद्वार : वन मंत्री हरक सिंह रावत की विधान सभा क्षेत्र कोटद्वार में उनकी ही पार्टी के नेताओं का प्रचार प्रसार इस कदर जोरों पर है कि वह देश के नौनीहालो के भविष्य को ही प्रचार प्रसार का केन्द्र बनाने में तुले हुए हैं। वन मंत्री हरक सिंह रावत कि विधान सभा क्षेत्र कोटद्वार शहर के शिक्षण संस्थानों को पोस्टरों से भर दिया है, जिससे इस देश क भविष्य शिक्षा की तरफ कम और पोस्टरों की ओर ज्यादा आकर्षित हो रहा है। जिस कारण नौनिहालों का भविष्य अंधकार में जाने लगा है।

कोटद्वार शहर के बीचोंबीच राजकीय इंटर कॉलेज कि दिवारों को नेताओं ने अपने प्रचार-प्रसार का अड्डा बना रखा है। हर दिन इन दिवारो पर नेताओं के बधाई संदेश देने के पोस्टर चस्पा कर दिये जाते हैं। जिससे कहीं भी दूर-दूर तक विद्यालय नजर नहीं आता। नेताओं के प्रचार प्रसार का केन्द्र बनें विद्यालय से स्थानीय लोगों में भारी रोष है।

स्थानीय जनता का कहना है कि हमारे द्वारा कई बार लोगों को पोस्टरों चिपकाने से रोका जाता है। लेकिन ये छुटभैया नेता रात के अंधेरे में दिवारों पर पोस्टर चिपका दिये जाते हैं.

शिक्षकों में इस तरह के प्रचार प्रसार को लेकर भी आक्रोश है, जिसमें शिक्षक का कहना है कि प्रशासन के द्वारा इस तरह के पोस्टर चिपकाने का अनुमति नहीं देनी चाहीए। और साथ शिक्षण संस्थानों के दो सौ मीटर तक किसी प्रकार का प्रचार प्रसार नहीं होना चाहीए। स्कूलों की दिवारों पर पोस्टरों की बजाए शिक्षाप्रद सलोगन लिखे जाए,जिससे विद्यार्थीयो के साथ साथ आने जाने वाले राहगीरो को भी प्रेरणा मिलेगी। लेकिन नेताओ के द्वारा देश के भविष्य के साथ साथ देश के प्रधान मंत्री कि स्वच्छ भारत अभियान पर भी पलिता लगाने में तुले हुए है।

उपजिलाधिकारी ने सरकारी सम्पति पर पोस्टर चिपकाने के मामले में कार्यवाही कि बात कहकर अपना पल्ला झाड दिया है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top