यूपी में गुंडों के से मुठभेड़ औऱ इंकाउंटर होना आम बात हो गयी है. बदमाश बेखौफ हैं. अमरोहा जिले के बछराऊं थाने के गांव इंदरपुर हिस्ट्रीशीटर शिव अवतार यादव ने तमंचे से गोली चलाकर सिपाही हर्ष चौधरी की हत्या कर दी। जो की सिर्फ25 साल के थे औऱ डेढ़ साल पहले इनकी शादी हुई थी.

आफको बता दें हर्ष चौधरी गांव में हिस्ट्रीशीटर का सत्यापन करने गई पुलिस टीम में शामिल थे। मिली जानकारी के अनुसार बदले में पुलिस ने भी गोलियां चलाईं जिसमें हिस्ट्रीशीटर भी ढेर हो गया तो वहीं हिस्ट्रीशीटर शिव अवतार पर 20 से अधिक आपराधिक मुकदमे दर्ज थे।

शिव अवतार ने झोंकी फायर

एसपी अमरोहा विपिन ताडा ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस महानिदेशक के आदेश पर हिस्ट्रीशीटरों का सत्यापन किया जा रहा है। इसी क्रम में बछराऊं थाने के दो दरोगा और चार कांस्टेबल रविवार की शाम लगभग साढ़े छह बजे गांव इंद्रपुर में हिस्ट्रीशीटर शिव अवतार यादव के सत्यापन के लिए इंदरपुर गए थे। लेकिन वो घर में नहीं था किसी ने जानकारी दी की वो अपने खेत में गया है। पुलिस की टीम जैसे ही गन्ने के खेत के करीब पहुंची तो शिव अवतार ने फायर झोंक दिया। गोली पुलिस टीम में शामिल कांस्टेबल हर्ष चौधरी के सीने में लगी औऱ गंभीर घायल हो गए.

शिवअवतार की भी मौत

गंभीर रूप से घायल सिपाही हर्ष को टीएमयू मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसने दम तोड़ दिया। हर्ष चौधरी पर हमले के बाद पुलिस वालों ने भी मोर्चा संभालकर फायरिंग की। इसमें शिवअवतार भी गंभीर रूप से घायल हो गया जिसकी बाद में जिला अस्पताल अमरोहा में मौत हो गई।  एसपी अमरोहा ने बदमाश से मुठभेड़ में कांस्टेबल हर्ष चौधरी और हिस्ट्रीशीटर की मौत की पुष्टि की है।

डेढ़ साल पहले हुई थी शादी

हर्ष चौधरी हाथरस के श्यामनगर निवासी थे जो की 2016 में भर्ती हुए थे। उनकी शादी को डेढ़ साल हुए थे। बछराऊं में उनकी पत्नी और माता-पिता उसके साथ रहते थे। उसकी पत्नी पांच माह की गर्भवती बताई गई है। वहीं, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतक सिपाही की पत्नी को 40 लाख, माता-पिता को 10 लाख और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top