देहरादून। उत्तरखंड की त्रिवेंद्र सरकार जीरो टाॅलरेंस पर काम कर रही है, इसकी बयानगी जहां खुद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कई मौकों पर कर दिखाया है तो वहीं त्रिवेंद्र सरकार में शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी संभाल रहे शिक्षा मंत्री अरविंद भी शिक्षा विभाग में जीरो टाॅलरेंस पर काम रहे हैं। इसी का नतीजा है कि ट्रांसफर पोस्टिंग का खेल शिक्षा विभाग में पैंसों के दम खत्म होता नजर आया है।

भर्ती निकालने के लिए पैंसे मांग रहा था अधिकारी

उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सरकार भले ही जीरो टाॅलरेंस के नारे पर आगे बढ़ रही हो, लेकिन जिन अधिकारियों को भ्रष्टाचार कर पैंसे कमाने की आदत पड़ी है वह उस आदत को छोड़ नही पा रहे हैं। इसी का एक ताजा उदाहरण अल्मोड़ा में देखने को मिला है. जहां पर प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी जगमोहन सोनी पर घूस लेकर अशासकीय स्कूल में विज्ञप्ती निकालने का आरोप लगा है। जी हां ये आरोप स्थानीय लोगों ने शिक्षा मंत्री से मुलाकात के दौरान शिकायत के रूप में लगाया है।

शिक्षा मंत्री से लोगों ने की शिकायत

शिक्षा मंत्री से शिकायत करने पहुंचे लोगों का कहना है कि अल्मोड़ा के मुख्यशिक्षा अधिकारी आशासकीय स्कूल में शिक्षक के पद की विज्ञप्ती निकालने के लिए पैंसे की मांग कर हैं. साथ ये भी कह रहे हैं कि पैसा शिक्षा सचिव तक पहुंचाना है इसलिए जब तक उन्हें पैसे नहीं मिल जाते तब तक वह विज्ञप्ती नहीं निकालेंगे।

शिक्षा मंत्री ने लिया संज्ञान,हुई कार्रवाई

स्थानीय लोगों की शिकायत पर शिक्षा मंत्री अरविंद पाण्डेय ने संज्ञान लेते हुए शिक्षा सचिव को पद से हटाने के निर्देश दिए. जिस पर शिक्षा सचिव ने भी तत्काल प्रभाव से कार्रवाई करते हुए अल्मोड़ा मुख्य शिक्षा अधिकारी के पद से जगमोहन सोनी को हटा दिया गया है साथ ही जो आरोप उन पर लगे है उनकी जांच की बात भी कही है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top