पुलवामा आतंकी हमले के बाद जम्मू-कश्मीर में बड़े पैमाने पर अर्धसैनिक बलों को भेजा गया है. गृह मंत्रालय की ओर से जारी पत्र में बताया गया है कि जम्मू-कश्मीर की घाटी में सुरक्षाबलों की 100 अतिरिक्त कंपनियां भेजी गई हैं. बता दें कि पुलवामा हमले के बाद केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर को लेकर काफी सख्त है. घाटी की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई जा रही है, इसलिए गृह मंत्रालय ने सुरक्षाबलों की अतिरिक्त कंपनियां भेजी हैं. इसमें सीआरपीएफ की 35, बीएसएफ की 35, एसएसबी की 10 और आईटीबीपी की 10 कंपनियां शामिल हैं.

गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद ने आतंकी हमला किया था, जिसमें CRPF के 40 जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद से गृह मंत्रालय की ओर से जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद पर नकेल कसने के लिए सुरक्षा बढ़ाई जा रही है. इसके तहत ही गृह मंत्रालय ने घाटी की सुरक्षा को लेकर 100 अतिरिक्त सुरक्षा बलों की कंपनियां भेजी हैं. बताया जा रहा है कि जम्मू-कश्मीर से आतंकवाद को जड़ से खत्म करने के लिए ये पहल की जा रही है.

गृह मंत्रालय की ओर से जम्मू-कश्मीर के गृह सचिव, मुख्य सचिव और डीजीपी को भेजे गए फैक्स में कहा गया है कि घाटी में तत्काल प्रभाव से इन बलों की तैनाती की जानी है. 22 तारीख को भेजे गए इस फैक्स में सीआरपीएफ को इन बलों की तत्काल रवानगी की व्यवस्था करने को कहा गया है. इतने बड़े पैमाने पर सुरक्षा बलों की तैनाती क्यों की जा रही है इसका खुलासा नहीं किया गया है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top