पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने POK में जबर्दस्त हमला किया है। भारतीय वायुसेना के 12 मिराज ने पुलवामा हमले के 12 दिन बाद पाक को मुंह तोड़ जवाब दिया और 2000 लड़ाकू विमानों ने आतंकी ठिकानों पर 1000 किलोग्राम के बम गिराकर जैश-ए-मोहम्मद के अल्फा 3 कंट्रोल रूम समेत कई ठिकानों को तबाह किया जिसके बाद कुछ ही देर में वायुसेना के आला अधिकारी प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे.

एयर स्ट्राइक में 200-300 आतंकियों के मारे जाने की खबर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस एयर स्ट्राइक में 200-300 आतंकियों के मारे जाने की खबर है। सूत्रों के मुताबिक एनएसए अजीत डोभाल ने इस एयर स्ट्राइक के बारे में पीएम नरेंद्र मोदी को जानकारी दी है। इस हमले के बाद भारतीय वायुसेना हाई अलर्ट पर है। सीमा पर सटे स्थानीय लोगों ने भी बताया है कि सोमवार रात से ही सीमा पर लड़ाकू विमानों की आवाजें आ रही थीं।

एनएसए डोभाल द्वारा इस हमले पर पीएम मोदी को जानकारी दी गई है। उधर, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी कुछ देर में पीएम मोदी से मुलाकात कर सकते हैं।

1971 भारत-पाक युद्ध के बाद पहली बार भारतीय वायुसेना ने सीमा पार जाकर हमला किया

सूत्रों के अनुसार 1971 भारत-पाक युद्ध के बाद पहली बार भारतीय वायुसेना ने सीमा पार जाकर हमला किया है। सूत्रों के मुताबिक भारतीय कई आतंकी ठिकानों को तबाह किया है। मुजफ्फराबाद के रास्ते भारतीय लड़ाकू विमानों ने जैश के अल्फा 3 कंट्रोल रूम को पूरी तरह खंडित किया। सूत्रों के मुताबिक इस हमले में आतंकियों को काफी नुकसान की खबरें हैं। बालाकोट और चकोटी में आतंकी संगठन जैश के ठिकानों को भी ध्वस्त करने की खबरें हैं।

पुलवामा आतंकी हमले के बाद आतंकी संगठन जैश ने इसकी ली थी जिम्मेदारी 

सूत्रों के अनुसार भारत ने पूरी तैयारी के साथ यह हमला किया है। लड़ाकू विमानों के हवा में ही फ्यूल भरने की भी व्यवस्था की गई थी। पीएम नरेंद्र मोदी ने भारतीय सुरक्षाबलों को कार्रवाई करने की पूरी छूट दे दी थी। सुरक्षाबलों ने पूरी तरह सोच समझकर यह ऐक्शन लिया है। बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद आतंकी संगठन जैश ने इसकी जिम्मेदारी ली थी।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top