हरिद्वार : भगवानपुर क्षेत्र के बल्लूपुर गांव में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या 8 से बढ़कर 12 हो गई है…वहीं अभी भी 4 की हालत गंभीर बनी हुई है. ये ग्रामीण ग्राम बालूपुर, बिंदु, जहाजगढ़, तेजजूपुर, भलस्वागाज आदि के रहने वाले हैं। वहीं  डीएम, एसएसपी और आबकारी विभाग के तमाम अभिकरियों को मौके पर भेजा गया है.

प्रमुख सचिव सचिव आनंद वर्धन ने बुलाई बैठक, 13 कर्मचारी निलंबित

वहीं मौतों की घटना के बाद आनन फानन में आबकारी के आला अधिकारियों की बैठक बुलाई गयी. जिसमें प्रमुख सचिव सचिव आनंद वर्धन ने बताया कि लापरवाही बरतने पर आबकारी निरीक्षक समेत 13 लोगों को निलंबित कर दिया गया गै। सभी को मुख्यालय ज्वाइन करने के आदेश तत्काल दिये गए हैं।साथ ही उन्होंने कहा कि चेकिंग, प्रवर्तन के मामले में सभी लापरवाह पाए गए हैं. साथ ही वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम को उसी जगह पर केम्प करने के लिए ओर जांच के लिए नियुक्त किया गया है. इस दौरान आनंद वर्धन ने कहा कि इस घटना के बाद अन्य जिला आबकारी अधिकारियों को भी अलर्ट किया गया ताकि  भविष्य में इस तरह की पुनरावृत्ति ना हो.

जिलाधिकारी ने की पुष्टि

वहीं जिलाधिकारी हरिद्वार दीपक रावत ने घटना की पुष्टि की. डीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले से इस गांव के सटे होने के कारण वहां भी कुछ लोगों के मरने की सूचना आ रही है।

11 की मौत, कई अस्पताल में भर्ती

जानकारी के अनुसार जिले के बालुपुर गांव में किसी व्यक्ति के घर तेहरवीं थी। उसमें भोजन के साथ लोगों को शराब भी परोसी गई। इस दौरान जिसके घर में तेहरवीं का भोज था उस व्यक्ति की भी मौत हो गई. खाना खाने के बाद लोगों की तबीयत बिगड़ने लगी। इनमें से 12 लोगों की मौत हो गई, जबकि कइयों को अस्पातल में भर्ती कराया गया है। आबकारी मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि मौके पर पुलिस और आबकारी विभाग की टीम भेजी गई है। घर में बनाई गई कच्ची शराब के सेवन से मौत की सूचना आ रही है। साथ ही इस बात की भी जांच की जा रही है कि कहीं मामला फूड प्वाइजनिंग का तो नहीं है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top