भारतीय जनता युवा मोर्चा (बीजेवाईएम) अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में मंदिर का निर्माण कराना चाहता है और इसके लिए उसने विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर तारिक मंसूर को पत्र लिखा है. बीजेवाईएम के जिला अध्यक्ष मुकेश सिंह लोधी ने कहा है कि उन्होंने वीसी को इस बारे में जवाब देने के लिए 15 दिनों का समय दिया है. लोधी ने कहा कि यदि उन्हें इसके लिए अनुमति नहीं दी गई तो वह अपने हजारों समर्थकों के साथ परिसर में ‘मूर्ति की स्थापना’ करने जाएंगे.

एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए लोधी ने सर सैयद अहमद खान का हवाला दिया. सिंह के मुताबिक खान ने एक बार कहा था कि ‘हिंदू और मुस्लिम एक खूबसूरत दुल्हन की दो आंखें हैं और वह दुल्हन हिंदोस्तान है. उनके द्वारा स्थापित विश्वविद्यालय में मुस्लिमों के लिए मस्जिद तो है लेकिन मंदिर नहीं है जहां हिंदू छात्र पूजा कर सकें.’

लोधी ने कहा, ‘विश्वविद्यालय में मंदिर न होने से हिंदू छात्र कई समस्याओं का सामना कर रहे हैं. वीसी को सर सैयद के सपनों को पूरा और विश्वविद्यालय परिसर में मंदिर निर्माण के लिए जगह की व्यवस्था करनी चाहिए.’ वहीं, एएमयू के प्रवक्ता सैफी किदवई ने लोधी की इस मांग को ‘राजनीतिक मामला’ बताया और कहा कि विश्वविद्यालय को इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है.

बता दें कि कुछ दिनों पहले अलीगढ़ के बरौली निर्वाचन क्षेत्र के भाजपा विधायक ठाकुर दलवीर सिंह के पोते एवं छात्र नेता अजय सिंह विश्वविद्यालय परिसर में मंदिर के निर्माण की मांग कर चुके हैं. उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन की अनुमति के बिना परिसर में एक ‘तिरंगा यात्रा’ निकाली थी जिसके लिए उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top