उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश की सीमा पर जहरीली शराब पीने से शुक्रवार को कम से 30 लोगों की मौत हो गई, जबकि सात अन्य अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं. पुलिस सूत्रों ने बताया कि मृतकों की संख्या अभी और बढ़ सकती है. ग्रामीणों ने कथित तौर पर खतरनाक मिथाइल अल्कोहल युक्त शराब पी ली थी.

इस बीच, उत्तराखंड के आबकारी और वित्तमंत्री प्रकाश पंत ने घटना की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं. पंत ने कहा कि हरिद्वार जिले में आबकारी विभाग के करीब एक दर्जन अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है. पुलिस ने कहा कि उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में 14 लोगों की, जबकि उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की सीमा के पास 16 लोंगों की मौत हुई है.

पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी ने कहा कि पुलिस ने अपराधियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दी है. वहीं, इस मामले में चार पुलिसकर्मियों को भी निलंबित कर दिया गया है. रतूड़ी ने कहा, हम मामले की जांच कर रहे हैं. सहारनपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक शरद सचान ने कहा कि मृतकों में सबसे ज्यादा जिले के गागेलहादी क्षेत्र के हैं.

घटना उस समय घटी, जब देहरादून के बालापुर गांव में तेरहवीं के भोज के समय कई लोग एकत्रित हुए और शराब पीने के बाद लोग उल्टी करने लगे. इसके बाद उन्हें हरिद्वार में पास एक अस्पाल में भर्ती कराया गया, जहां 14 लोगों की मौत हो गई. रतूड़ी ने कहा, जहरीली शराब पीने से 14 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है.

उत्तराखंड के राज्यपाल बेबी रानी मौर्य और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया है. रावत ने हरिद्वार जिला प्रशासन को अस्पताल में भर्ती लोगों को हरसंभव चिकित्सा सुविधाएं देने का आदेश दिया है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top