देहरादून : विधानसभा बजट सत्र के 8वे दिन की कार्यवाही शुरू हुई. जिसके बाद एक बार फिर विपक्ष ने सदन के अंदर हंगामा बरपाया. बजट सत्र की 8वें दिन की कार्यवाही शुरु होते ही सदन में विपक्ष ने मुख्यमंत्री के करीबियों के स्टिंग की सीबीआई से जांच कराने की मांग की और नियम 310 के तहत चर्चा कराने की मांग को लेकर हंगामा किया. वहीं सदन की कार्यवाही 3 बजे तक के लिए स्थगित की गई.

भाजपा विधायक देशराज कर्णवाल का बयान

वहीं इसके बाद भाजपा विधायक देशराज कर्णवाल ने सदन में रासायनिक खादों और कीटनाशक दवाओं का मामला उठाया…विधायक ने कहा कि राज्य गठन के बाद कितने सैंपल फेल हुए और कितनों पर कार्रवाई हुई. जिसके बाद कृषि मंत्री ने जवाब दिया औऱ कहा कि सैंपलिंग फेल होने पर कार्रवाई कोर्ट के अनुसार की जाती है. उन्होंने कहा कि राज्य बनने के बाद उर्वरक के 297 और रसायनिक कीटनाशकों के 267 सैम्पल फेल हुए और सैंपल फेल होने वाले सभी पर कार्रवाई की गई है.

विधायक मनोज रावत का बयान,भाजपा रायपुर विधायकों ने घेरा

इस मुद्दे के बाद कांग्रेस विधायक मनोज रावत ने देहरादून के कई क्षेत्रों को सीवर लाइन बिछाने से छोड़ने का मुद्दा उठाया. कांग्रेस विधायक के सवाल के बाद सत्ता पक्ष के विधायकों ने भी सवालों से पेयजल मंत्री को घेरा. आपको बता दें भाजपा रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ, खजान दास, गणेश जोशी, हरबंश कपूर ने अपनी-अपनी विधानसभा क्षेत्रों में सीवर लाइन के कनेक्शन जोड़े जाने का लेकर सवाल किया और कहा कि कब तक उनकी विधानसभा में सीवर लाइन लगेगी. जवाब में पेयजल मंत्री ने कहा कि13वें वित्त आयोग के तहत सीवर लाइन के निर्माण कार्य वर्तमान में बजट के अभाव में  काम अवरूद्ध हुआ. सरकार जल्द बजट का प्रवाधान कर सीवर लाइन को शहर में शुरू करेगी.

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने सदन में कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर खड़े किए सवाल 

वहीं इसके बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने सदन में कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर सवाल खड़े किए. प्रीतन सिंह ने 16 जनवरी को विकासनगर में मोती सिंह हत्या का मामला सदन में उठाया औऱ नियम 58 के तहत चर्चा करने की मांग की.

विधायक प्रीतम सिंह ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि 16 जनवरी से मोती सिंह लापता है लेकिन शव का अभी तक पता नहीं चल पाया है. हत्या के बाद शव को शक्तिनहर में फेंक दिया था और शव बरामद करने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज किया गया था जिसका विरोध किया गया था.

संसदीय कार्यमंत्री ने सदन में पुलिस का पक्ष रखते हुए कहा कि घटना के बाद पुलिस द्वारा तत्काल कार्रवाई की गई थी. ससंदीय मंत्री ने कहा कि इस मामले से जुड़े आऱोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है जिन्हें 6 दिन की रिमांड पर भी रखा गया था. ससंदीय मंत्री ने कहा कि शव को ढूढंने के लिए पुलिस द्वारा पूरी कोशिश की गई. संसदीय मंत्री ने कहा कि एनएच जाम करने और पुलिस का वाहन तोड़ने पर पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा था.

वहीं इस मामले पर नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने भी अपना पक्ष रखा.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top