• आदित्य मेहता फाउन्डेशन तथा आई.टी.बी.पी. व बी.एस.एफ.देगा प्रशिक्षण 
देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
देहरादून। उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद द्वारा शीतकालीन खेलों की राजधानी औली में 4 फरवरी से 9 फरवरी के मध्य पहली बार शीतकालीन पैरा गेम्स प्रशिक्षण कैम्प लगाया जायेगा। कैम्प में देशभर के लगभग 80 पैरा एथलीट्स को आदित्य मेहता फाउन्डेशन, आई0टी0बी0पी0 तथा बी0एस0एफ0 के सहयोग से अन्तर्राष्ट्रीय शीतकालीन पैरा गेम्स के लिए सयंुक्त रूप से प्रशिक्षित किया जायेगा। इस दौरान प्रशिक्षुुओंको स्कीं, एलपाईन स्कीं, क्रास कन्ट्री स्कीं तथा पैरा स्नो बोर्डिंग आदि खेलों का प्रशिक्षण दिया जायेगा।
सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने बताया कि राज्य में विश्व स्तर के पैरा एथलीटिस को तैयार करने की दशा में यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि औली में शीतकालीन खेलों के लिए आदर्श परिस्थितियां मौजूद है। आदित्य मेहता फाउन्डेशन तथा आई0टी0बी0पी0 व बी0एस0एफ0 के माध्यम से दिव्यांगों को शीतकालीन खेलों में प्रशिक्षित किये जाने की पहल सराहनीय है। उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद द्वारा इसमें पूर्ण सहयोग प्रदान किया जायेगा। पैरा स्पोटर्स को बढ़ावा देने के लिए गुरूवार को परेड ग्राउन्ड स्थित बैडमिन्टन हाॅल में रोड शो का आयोजन किया गया।
ए0एम0एफ0 के संस्थापक आदित्य मेहता ने बताया कि 04 से 09 फरवरी तक औली में प्रथम पैरा दिव्यांग विंटर गेम्स टेªनिंग कैंप में आगामी विंटर पैरा गेम्स में 80 दिव्यांग खिलाड़ियों की सशक्त और प्रशिक्षित टीम उतारी जायेगी जिसमें देश भर से ड्यूटी के दौरान दिव्यांगता के शिकार हुए आई0टी0बी0पी0, सी0आर0पी0एफ0 व बी0एस0एफ0 के अधिकारी शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि टीम को प्रशिक्षण देने के लिए विशेषज्ञ पैरा गेम टेªनर, कोच और फिजियोथैरापिस्ट तथा तकनीकी स्टाॅफ की आवश्यक व्यवस्था की गई है। 




0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top