झारखंड में लगभग 70 हजार पुलिसकर्मियों ने एक साल में 13 महीनों के वेतन समेत अपनी सात सूत्री मांगों को लेकर मंगलवार से आंदोलन शुरू कर दिया है. झारखंड पुलिस संघ के अध्यक्ष योगेंद्र सिंह ने कहा, “हमने मंगलवार से अपना सत्रवार आंदोलन शुरू कर दिया है और अपनी वर्दी पर काली पट्टी बांध कर काम करेंगे. राज्य सरकार ने अगर हमारी मांगें नहीं मानीं तो हम 20 फरवरी को अनशन पर बैठेंगे.

उन्होंने कहा, पुलिसकर्मी 28 फरवरी से चार दिन का अवकाश लेंगे. तीन पुलिस संगठनों झारखंड पुलिस संघ (जेपीए), झारखंड पुलिसकर्मी संघ और चतुर्थ श्रेणी पुलिस संघ ने मंगलवार को एक साथ आंदोलन शुरू किया.

सात सूत्री मांग में एक साल में 13 महीने का वेतन, पुरानी पेंशन योजना को लागू करना, आश्रितों के तौर पर नौकरी पाने वाले व्यक्ति को ऊपरी आयु में छूट मिलना, मारे गए पुलिसकर्मी के माता-पिता को मुआवजे का 25 फीसदी, वरिष्ठ अधिकारियों के लिए उपलब्ध स्वास्थ्य सेवाओं को अन्य कर्मियों को भी उपलब्ध कराना आदि हैं.

संघ ने यह आंदोलन सोमवार को राज्य गृह विभाग के साथ हुई बैठक के किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचने के बाद शुरू किया है. राज्य सरकार कुछ मांगों पर सहमत है जिनमें एक साल में 13 महीनों का वेतन देना भी शामिल है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top