देहरादून : एक ओऱ जहां आगामी लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए सत्ता धारी सरकार और कांग्रेस सरकार जी तोड़ मेहमत कर रही है तो वहीं टिहरी गढ़वाल के एक इलाके के लोगों ने लोकसभा चुनाव से दूरी बनाते हुए लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करने का फैसला किया है.

सरकार के खोखले वादों से तंग आकर प्रतापनगर वासियों ने लिया फैसला

जी हां सरकार के खोखले वादों से तंग आकर प्रतापनगर वासियों ने ये फैसला किया है. लोगों का कहना है कि आज तक जो भी दावे और घोषणाएं सरकार ने की वो केवल दावे और घोषणाएं ही बनकर रह गई है जमीनी तौर पर एक भी काम सरकार ने नहीं किया…जिस कारण प्रतापनगरवासियों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

इन तमाम मद्दों को लेकर लोकसभा चुनाव का बहिष्कार का ऐलान

सामाजिक कार्यकर्ता तेजपाल बगियाल और युवा मोर्चा संयोजक मुलायम सिंह रावत का कहना है कि प्रतापनगरवासी इन तमाम मद्दों को लेकर लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करेंगे. जिनमें…

1. डोबरा चांटी पुल का निर्माण 13 सालों में न होना और इस पर जो घोटाला हुआ है, उसकी सीबीआई जांच अब तक नहीं होना।

2. हनुमंत राव कमेटी की सिफारिशों के आधार पर बांध प्रभावित प्रतापनागर विधानसभा के लोगों को बिजली व पेयजल नि:शुल्क उपलब्ध करवाना, प्रतापनगर व लम्बगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में अल्ट्रासाउंड, एक्सरे मशीन के साथ ही रेडियोलॉजिस्ट की नियुक्ति की जाए.

3. आजादी के बाद आज तक प्रतापनागर में रोडवेज बस का न पहुंचान।

ये की मांग

साथ ही उन्होंने कहा कि अगर लोकसभा से पहले 2 छोटी रोडवेज की बसों का प्रतापनगर विधानसभा के लिए संचालन नहीं होता तो लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करने से क्षेत्रवासियों को कोई नहीं रोक सकता. साथ ही बताया कि इन विषयों को लेकर सामाजिक संगठनों से जुड़े लोग व प्रतापनगर युवा मोर्चा द्वारा शासन व प्रशासन को भी जल्द ज्ञापन प्रेषित कर अवगत करा दिया जाएगा।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top