राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार की सुबह सर्द रही और घना कोहरा छाया रहा. कोहरे की वजह से दृश्यता घटकर 50 मीटर रह गई. इससे सड़क, रेल व वायु यातायात बाधित हुआ. राजधानी में न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मौसम विभाग ने कहा कि पालम में सुबह 7.30 बजे दृश्यता शून्य रही. राजधानी में सुबह 8.30 बजे आद्र्रता 100 फीसदी रही. भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के एक अधिकारी ने कहा, “दिल्ली के कुछ हिस्सों में बेहद घना कोहरा छाया रहा. दिन में आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे.”

घने कोहरे की वजह से दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने एक एडवाइजरी जारी की, जिसमें चालकों से हेड लाइटों का प्रयोग करने, ओवरटेक न करने और घर से निकलने से पहले मौसम की जानकारी लेने की बात कही गई है.

कम दृश्यता की वजह से दिल्ली की ओर आने वाली 27 ट्रेनें देरी से चल रही हैं. दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल) ने कहा कि इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे से रवाना होने वाली कुछ उड़ानों में देरी हुई है, लेकिन कम दृश्यता के बावजूद एक भी उड़ान को रद्द नहीं किया गया है.

एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) के मुताबिक, “दिल्ली हवाईअड्डे पर सोमवार को एक भी उड़ान को रद्द नहीं किया गया या मार्ग परिवर्तित नहीं गया है. उड़ानों के प्रस्थान में 15 से 20 मिनट की देरी हो सकती है.”

डायल के प्रवक्ता ने आईएएनएस से कहा, “रनवे की दृश्यता में कुछ समय बाद सुधार हो गया और यह 150 मीटर हो गई.” आईएमडी ने कहा कि सुबह 10.30 बजे तक सफदरजंग में दृश्यता में सुधार हो गया और यह 2000 मीटर हो गई. हालांकि, हवाईअड्डे के पास पालम इलाके में दृश्यता खराब रही, जहां यह 300 मीटर रही.

स्काइमेट के महेश पलावत ने कहा, “बारिश व स्थिर हवाओं ने कोहरा छाने में योगदान दिया है. ऐसा रविवार को होने की उम्मीद थी लेकिन हवा की करीब 10-15 किमी प्रति घंटा की रफ्तार ने इसे बिखेर दिया.” मंगलवार को पश्चिमी विक्षोभ के पहुंचने के कारण वायु की दिशा में बदलाव होगा, जिससे अगले कुछ दिनों तक कोहरा जारी रहेगा.

हालांकि, बीते 24 घंटों में बारिश नहीं हुई है. लेकिन, आईएमडी ने मंगलवार से गुरुवार तक आंधी-तूफान के साथ हल्की बारिश व ओलावृष्टि का पूर्वानुमान जताया है. राजधानी में रविवार को अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री नीचे 19.9 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top