• बिहार के बक्सर में हंस फाउंडेशन ने आयोजित किया स्वास्थ्य महाकुंभ मेला
  • हंस फाउंडेशन ने स्तन कैंसर के इलाज के लिए भेंट की मैमोग्राफी मशीन 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो

पटना : स्वस्थ भारत स्वच्छ भारत व सबल भारत की कल्पना अब साकार होने लगी है। यही वजह है कि भारत सरकार की स्वास्थ्य सम्बन्धित योजनाओं को विश्वव्यापी सराहना मिल रही है। सरकार की आयुष्मान भारत योजना इसका प्रतिरुप है । स्वास्थ्य के क्षेत्र में आज भारत खुद के देशवासियों के अलावा पड़ोसी देशों को भी बेहतर सेवाएं उपलब्ध करवा रहा है । दवाओं के कीमतों पर अंकुश लगा कर गम्भीर बीमारियों से पीड़ित लोगों को सस्ती दर पर दवा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से केंद्र सरकार अनेक दिशाओं में काम कर रही है। उक्त विचार केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने बिहार के बक्सर में आयोजित दो दिवसीय स्वास्थ्य मेले का उदघाटन करते हुए कही।

इस दो दिवसीय स्वास्थ्य मेले में समाजसेवी माता मंगला जी एवं श्रीभोलेजी महाराज जी की प्रेरणा से हंस फाउंडेशन के तत्वावधान में स्तन कैंसर के इलाज के लिए एक मैमोग्राफी मशीन भेंट की गयी। जिसको विदिवत आरोग्य क्रैंज स्तन कैंसर फाउंडेशन को सौंपते हैं जे. पी नड्डा ने कहा कि हम हंस फाउंडेशन का विशेष आभार व्यक्त करते हैं कि स्तन कैंसर की रोकथाम और इलाज के लिए आपने इस क्षेत्र को मेमोग्राफी मशीन प्रदान की है। यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है बक्सर के आदिवासी क्षेत्रों में जहां महिलाओं को मालूम ही नहीं है कि स्तन कैंसर जैसी बीमारी है क्या। लेकिन इस मशीन द्वारा स्तन कैंसर से जूझ रही महिलाओं की स्क्रीनिंग कर ईलाज किया जाएगा। यह निश्चित तौर पर बहुत महत्वपूर्ण कार्य है।

इस मौके पर केन्द्रीय स्वास्थ्य परिवार कल्याण राज्य मंत्री और स्थानीय सांसद आश्विनी कुमार चौबे ने भी समाज सेवी माताश्री मंगला जी एवं श्रीभोलेजी महाराज जी का आभार प्रकट करते हुए कहा कि माता जी-महाराज जी ने हमारे इस बक्सर क्षेत्र की महिलाओं के स्वास्थ्य के प्रति गंभीर होते जो मैमोग्राफी मशीन प्रदान की है। इससे स्तन कैंसर के मरीजों को शुरूआती दौर में पता चल जाएगा कि क्या उन्हें यह बीमारी है। जिसके बाद तुरंत इसका इलाज शुरू हो जाएगा और हमारी मां-बहनों को इस बीमारी से निजात मिल जाएगा। इस के लिए हम हंस फाउंडेशन का धन्यवाद करते हैं।

देश में अपने स्तर के पहले इस विशाल स्वास्थ्य शिविर में देश के तीन सौ से भी अधिक चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी मेले में अपनी सेवाए प्रदान की, जिसमें तमाम स्वास्थ्य जांचों के साथ-साथ लगभग दस हजार महिलाओं की मैमोग्राफी की गयी। दो दिवसीय इस स्वास्थ्य मेले का समापन बिहार के राज्यपाल महामहिम लालजी टंडन के हाथों हुआ ।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top