मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत विधानसभा में मीडिया से वार्ता करते हुए कहा कि इस सत्र में एक विधेयक लाया जायेगा, जिसमें जहरीली शराब बेचने व अवैध तरीके से इस तरह का कारोबार करने वालों लिए सख्त प्राविधान होंगे व इस तरह के अपराधियों को कठोर दण्ड दिया जा सके.

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस तरह के मामलों की जांच के लिए एक आयोग का गठन भी किया जायेगा. मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि हरिद्वार जनपद में हुई घटना की तह तक जाकर जांच की जायेगी. इसके लिए आईजी रैंक के अधिकारी की अध्यक्षता में एसआईटी गठित की जा रही है, ताकि इस मामले की गहराई व सोर्स तक पंहुचा जा सके.

इस मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश पहले ही दिये जा चुके हैं. उत्तराखण्ड व उत्तरप्रदेश पुलिस की संयुक्त कमेटी बनाई गई है.

हरिद्वार और सहरानपुर के एसएसपी इस पूरे मामले का खुलासा कर चुके हैं कि शराब किनके द्वारा बनाई गई, कहां बनाई गई व किसके द्वारा बेची गई. हमारा प्रयास है कि इस मामले में संलिप्त सभी लोगों तक पहुंचा जाय.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top