देहरादून : राज्य की त्रिवेंद्र सरकार ने अटल जी के जन्मदिन के दिन प्रदेश की जनता को 5 लाख तक का मुफ्त इलाज की योजना से लाभान्वित किया. जिसमें 23 लाख परिवारों को अटल आय़ुष्मान योजना का लाभ मिलने का आंकड़ा सामने आया. वहीं अब तक कई लाखों लोगों ने गोल्डन कार्ड बनवाया और कई लोगों ने रजिस्ट्रेशन भी कराया है.

सरकार ने किया गोल्डन कार्ड बनाने के नियम में बदलाव

वहीं अटल आयुष्मान योजना को लेकर एक नई जानकारी सामने आई है. जी हां अटल आयुष्मान योजना के तहत गोल्डन कार्ड बनाने के नियम में सरकार ने बदलाव किया है जिसमे अब जिन लोगों के राशन कार्ड नहीं बने हैं उनके भी गोल्डन कार्ड बन सकेंगे। बता दें अब वोटर आईडी, आधार कार्ड, परिवार रजिस्टर और सर्विस रिकार्ड के आधार पर भी गोल्डन कार्ड बनवाए जा सकेंगे।

अब तक गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए आधार कार्ड और राशन कार्ड जरुरी था

आपको बता दें अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना के तहत अभी तक गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए आधार कार्ड और राशन कार्ड जरुरी था। वहीं बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं जिनकी आय पांच लाख रुपये से ज्यादा होने के कारण राशन कार्ड ही नहीं बन पाए हैं। इस कारण जिन लोगों के राशन कार्ड नहीं बने हैं, उनके गोल्डन कार्ड भी नहीं बन पा रहे हैं।

जिस कारण लोगों ने गोल्डन कार्ड बनाने के लिए कार्यालयों के खूब चक्कर लगाए औऱ कार्ड न बनने पर खूब हंगामा भी किया. ऐसे में इस परेशानी से बचने के लिए पूर्ति विभाग के अधिकारियों ने शासन को पत्र लिखकर इस समस्या के बारे में बताया. इसका संज्ञान लेते हुए सरकार ने बिना राशन कार्ड वाले लोगों को बड़ी राहत दी है। अब राशन कार्ड के बिना भी अटल आयुष्मान योजना के गोल्डन कार्ड बनवाया जा सकेगा।

ये लगेंगे दस्तावेज

राशन कार्ड को छोड़कर अब गोल्डन कार्ड के लिए वोटर आईडी, सर्विस रिकॉर्ड और आधार कार्ड लगेगा। जो लोग अपने पूरे परिवार के लिए गोल्डन कार्ड बनवाना चाहते हैं, उन्हें परिवार रजिस्टर की कॉपी दिखानी होगी।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top