हरिद्वार : पुलवामा आतंकी हमले में शहीद मोहनलाल आज दोपहर हरिद्वार में पंचतत्व में विलीन हो गए। खड़खड़ी श्मशान घाट पर उनका पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। शहीद मोहनलाल को अंतिम विदाई देने के लिए भारी जनसमूह उमड़ पड़ा. हर कोई भारत माता के इस लाल की बस एक झलक पाने को बेताब था, उत्तराखंड के पयर्टन मंत्री सहित सैकडों लोगों ने शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित की. शहीद मोहनलाल को सीआरपीएफ के जवानों ने सशत्र गार्ड ऑफ ऑनर दिया। शहीद के बेटे ने मांग की कि आतंक को पनाह देने वाले के पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी से कड़ी कारवाई होनी चाहिए।

कर चले हम फिदा जाने तन साथियों…अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों। अपनी शहादत से यह संदेश देते हुए सीआरपीएफ के जांबाज जवान मोहनलाल आज पंचतत्व में विलीन हो गए। देहरादून स्थित उनके निवास से उनकी अंतिम यात्रा आज दोपहर जब हरिद्वार पंहुची तो उनकी एक झलक पाने को वंहा भारी जन सैलाब इकठ्ठा था…खड़खड़ी के श्मशान घाट पर जैसे ही सीआरपीएफ की गाड़ी उनका पार्थिव शरीर लेकर पंहुची तो मानो पूरा हरिद्वार शहीद मोहनलाल अमर रहे के नारों से गूंज उठा। शमशान घाट पर मौजूद हजारो लोगों की आंखे नम थी…मगर उनकी आंखों में पाकिस्तान के खिलाफ एक जबरदस्त गुस्सा था…आक्रोश था…लोग पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे.

कई मंत्री-विधायक और विधानसभा अध्यक्ष रहे मौजूद

इस दौरान शहीद मोहनलाल को राज्य के मंत्री सतपाल महाराज व मदन कौशिक, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, सांसद रमेश पोखरियाल निशंक, सहित सैकड़ों लोगों ने श्रद्धा सुमन अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। वंहा मौजूद हर कोई भारतमाता के सपूत की एक झलक देखने को बेताब थे… लोग गम और गुस्से के साथ ही शहीद के शव पर बस एक फूल चढना चाहते थे..

भविष्य में किसी का बेटा इस तरह से अनाथ ना हो- शहीद का बेटा

शहीद मोहनलाल अपने पीछे पत्नी, 4 बेटियां और दो बेटे को छोड़ गये है. उनके बड़े बेटे शंकर रतूड़ी और छोटे बेटे श्री राम रतूड़ी ने अपने जांबाज पिता को मुखाग्नि दी। अपने पिता को मुखाग्नि देने वक्त उनकी आंखें नम थी…मगर आतंकियों के खिलाफ उसके दिल मे ज्वाला धधक रही थी। शहीद मोहनलाल के बेटे ने कहा कि पाकिस्तान से इस बार कड़ा बदला लिया जाना चाहिए पाकिस्तान को पूरी तरह साफ किया जाना चाहिए आज तो मेरे सर से पिता का साया उठा है, भविष्य और किसी का बेटा इस तरह से अनाथ ना हो।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top