कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को ढृढ़ता के साथ कहा कि आतंकवाद देश को बांट नहीं सकता और इसके साथ ही उन्होंने पुलवामा में गुरुवार को हुए आतंकवादी हमले के मद्देनजर कहा कि पूरे विपक्ष का समर्थन सरकार के साथ है. पुलवामा में गुरुवार को हुए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 45 जवान शहीद हो गए.

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी इस आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा की. मनमोहन सिंह ने कहा कि आज शोक का दिन है और राजनीतिक विवाद के मुद्दों को उठाने का नहीं.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मीडिया से कहा, ” यह भयावह त्रासदी है. हमारे सुरक्षा बलों के खिलाफ इस प्रकार की हिंसा बेहद घृणित है. हम यह स्पष्ट करना चाहते है कि आतंकवाद का एक ही मकसद देश को बांटना है और हम बंटने नहीं जा रहे हैं.”

राहुल गांधी ने अगले दो दिनों तक कोई राजनीतिक व विवादास्पद मुद्दा नहीं उठाने का वादा किया. उन्होंने कहा, “पूरा विपक्ष हमारे जवानों व सरकार के साथ खड़ा है. कोई ताकत, नफरत या नाराजगी देश के प्यार और स्नेह को प्रभावित नहीं सकती.”

उन्होंने कहा, “जिन लोगों ने हिंसा की है, उन्हें यह नहीं मानना चाहिए कि वे हमें चोट पहुंचा सकते हैं. उन्हें एहसास होना चाहिए कि यह देश इस तरह की चीजों को नहीं भूलता.”





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top