सेनेगल की राजधानी से अंडरवर्ल्ड डॉन रवि पुजारी को गिरफ्तार किया गया. पुजारी को सेनेगल पुलिस ने भारतीय दूतावास की तरफ से मिली सूचना के बाद एक नाई की दुकान से 21 जनवरी को  गिरफ्तार किया. 200 से अधिक केस में वॉन्टेड पुजारी अफ्रीकी देशों में रेस्तरां की चेन चला रहा था. लंबे समय से भारत उसे पकड़ने की कोशिश में था.

लंबे समय से उसने इंडस्ट्री के कई लोगों को धमकियां दी थीं. उसने कइयों पर हमला भी किया था. मुंबई के जेसीपी आशुतोष दुम्बारे ने कहा कि हमारे पास उसकी गिरफ्तारी की पक्की खबर है और उसके खिलाफ हमारे पास काफी सबूत हैं और हम मजबूत केस तैयार कर रहे हैं. पुजारी के लिए इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया जा चुका था, लेकिन वह लंबे समय से फरार चल रहा था.

बीते साल जून में गुजरात के विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि अंडरवर्ल्ड डॉन रवि पुजारी ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी. उन्होंने कहा था कि उन्हें फोन कॉल और मैसेज के जरिए धमकाया जा रहा है.

अंडरवर्ल्ड से जुड़े एक सूत्र का कहना है कि पुजारी ने वास्तव में आज तक किसी को नहीं मारा है, लेकिन दूसरों के किए अपराध पर अपना दावा किया है। सूत्र का कहना है, ‘वह झूठा और छोटा-मोटा अपराधी है. उसने अब तक कोई भी बहुत बड़ा काम नहीं किया है. 80 के दशक में वह अंधेरी में एक चाय की दुकान पर काम करता था, जहां से वह विनोद मटकर और रोहित वर्मा जैसे गैंगस्टर्स को चाय पहुंचाया करता था. जब वर्मा ने गैंगस्टर बाला जाल्टे की हत्या की तो पुजारी ने सिर्फ हथियार मुहैया कराए थे. इसके बाद उसका गैंगस्टर्स के साथ उठना-बैठना था. वर्मा ही पुजारी को बैंकॉक ले गया था, जहां उसने पुजारी को छोटा राजन से मिलाया था.’





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top