अभिनेता रणवीर सिंह का कहना है कि एक समय था जब उन्हें लगता था कि वह बॉलीवुड में कभी कोई मुकाम हासिल नहीं कर पाएंगे क्योंकि उनका कोई फिल्मी जुड़ाव नहीं था. रणवीर ने कहा, “संघर्ष के दिनों में मुख्य कलाकार बनने का एहसास शायद बहुत दूर था. मैं 10वीं में था. मुझे एहसास हुआ कि मेरा सपना शायद कभी सच नहीं होगा क्योंकि मेरे आसपास के अधिकांश लोग फिल्म बिरादरी से थे.”

अभिनेता ने अभिनय करियर में अपने शुरुआती दिनों के बारे में ‘स्टारी नाइट्स 2. ओह!’ के एक एपिसोड में बताया. इसका प्रसारण रविवार को जी कैफे पर होगा.

उन्होंने कहा, “मैंने उस चीज के लिए समझौता करना उचित समझा जो मेरी पहुंच के भीतर है. इसलिए, मैंने आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका के एक विश्वविद्यालय में एडमिशन लेने का फैसला किया और मुझे टाल मटोल के कारण कक्षाओं के लिए पंजीकरण करने में देरी हो गई, जिसके बाद यह पता लगा कि नॉन-मेजर्स के लिए एक्टिंग क्लास में एक स्लॉट खाली था, इसलिए मैंने उसमें दाखिला ले लिया.”

उन्होंने बताया, “मुझे मेरे प्रशिक्षक ने पहले दिन परफॉर्म करने को कहा और सभी को मेरी परफॉर्मेस पसंद आई और उस समय मुझे एहसास हुआ कि मैं एक कलाकार हूं.”





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top