• हमारी संरक्षण की संस्कृति से ही वन और वन्यजीव सुरक्षित : डॉ. रावत 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

ऋषिकेश । उत्तराखंड वन और वन्यजीवों की वजह से समृद्ध है, तो इसका बड़ा आधार हमारी संरक्षण की संस्कृति है। उन्होंने कहा कि वन कानूनों के कारण प्रदेश के विकास को अवरुद्ध नहीं होने दिया जाएगा। प्रदेश के वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत यहां गंगा भोगपुर में जिप्सी वेलफेयर सोसायटी ने कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। 

डॉ.हरक सिंह रावत ने  कहा कि वन व पर्यावरण से जुड़े हक हकूक पर हमारा पूरा अधिकार है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में आज जो वन व वन्य जीव समृद्धि स्थिति में है, उसके लिए हमारे समाज ने बड़ी कुर्बानियां दी हैं। उन्होंने बताया कि बीन नदी पुल निर्माण के लिए वन विभाग, लोक निर्माण विभाग को स्वीकृति प्रदान कर चुका है। कुछ औपचारिकताएं है जिन्हें जल्द पूरा किया जाएगा।

हरक सिंह रावत ने कौड़िया-किमसार मोटर मार्ग को लेकर कहा कि निर्माण जिस तकनीकी से किया गया था, वह तकनीकी असफल साबित हुई है। जल्द ही सरकार पुनः इस मार्ग का सीसी निर्माण करेगी। मार्ग का डेढ किलोमीटर हिस्सा जो ज्यादा खराब स्थिति में है इसे 6 माह के भीतर ही दुरुस्त किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गंगा से हो रहे कटाव के लिए यहां तटबंध निर्माण की कोशिश की जा रही है।

इस अवसर पर डिप्टी डायरेक्टर राजाजी पार्क, सोसायटी के अध्यक्ष सुरेश चंद शर्मा, पूर्व दायिवधारी पवन भट्ट, शशी राणाकोटी, संदीप कुमार राणाकोटी, मोहित शर्मा, मनोज बिष्ट, ग्राम प्रधान प्यारे लाल राणाकोटी आदि मौजूद थे।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top