• -माध्यमिक शिक्षा सचिव ने जारी किया शासनादेश
  • -कैंसर से पीड़ित दीपक ने अपना नेत्र और शरीर कर दिया था दान 
देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
रुद्रप्रयाग । अब राजकीय इंटर काॅलेज स्वीली-सेम को दीपक डिमरी राजकीय इंटर काॅलेज स्वीली-सेम के नाम से जाना जायेगा। इस संबंध में माध्यमिक शिक्षा सचिव ने शासनादेश जारी कर दिया है। 
शिक्षा और सामाजिक क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान को देखते हुए शासन ने राइंका स्वीली-सेम का नाम दीपक डिमरी राइंका स्वीली-सेम रखने का आदेश जारी कर दिया है। इस संबंध में एक फरवरी को शिक्षा सचिव भूपेन्द्र कौर औलख ने शासनादेश जारी करते हुए यह जानकारी दी। दरअसल, मूल रूप से स्वीली-सेम भरदार निवासी दीपक डिमरी का सामाजिक क्षेत्र में अभूतपूर्व योगदान रहा। दीपक ने केदारनाथ आपदा के दौरान प्रभावितों की मदद करने, उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय स्वीली-सेम को इंटर काॅलेज, सेम-डुंगरी मोटरमार्ग के लिए प्रयास करने के साथ अपनी आंखें और शरीर दान कर दिया था। गौरतलब है कि स्व0 दीपक डिमरी खंडूड़ी सरकार और मौजूदा त्रिवेन्द्र सरकार में उनके ओएसडी रहे थे। 
स्कूल का नाम दीपक डिमरी करने के लिए प्रयासरत रहे सामाजिक कार्यकर्ता कृष्णानंद डिमरी ने कहा कि सभी ग्रामीणों के सहयोग से स्कूल को दीपक डिमरी के नाम से जाना जायेगा। उन्होंने कहा कि यह दीपक के लिए सच्ची श्रद्धांजलि है। समाज में उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। वहीं भरदार जन विकास मंच के अध्यक्ष एलपी डिमरी ने स्कूल का नाम दीपक डिमरी होने पर सभी ग्रामीणों को सहयोग धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास में दीपक डिमरी का अहम योगदान रहा। 




0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top