महात्मा गांधी को पोस्टर पर गोली चलाने वाली अखिल भारत हिन्दू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडे और पति अशोक पांडे को अलीगढ़ की एक अदालत में पेश किया गया. जहां पूजा पांडे ने कहा कोई पछतावा नहीं. हमने कोई अपराध नहीं किया है. हमने अपने संवैधानिक अधिकार का इस्तेमाल किया है.

इस मामले में थाना गांधी पार्क में पुलिस की ओर से पूजा व अशोक समेत दस लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था. पुलिस ने पिछले दिनों सात लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. वहीं पूजा और अशोक फरार चल रहे थे. दोनों ने कोर्ट में सरेंडर याचिका दायर कर दी थी. सरेंडर करने के बजाय दोनों पुलिस को भ्रमित करने के लिए कुंभ में अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने की घोषणा कर दी थी.

पूजा शकुन पांडेय और उनके पति अशोक को अलीगढ़ पुलिस ने मंगलवार रात टप्पल से गिरफ्तार किया. दोनों को गिरफ्तारी के बाद बुधवार को स्थानीय अदालत में पेश किया गया. अदालत के बाहर मीडिया से पूजा पांडे ने कहा, ‘मुझे कोई पछतावा नहीं है. हमने कोई अपराध नहीं किया है. हमने अपने संवैधानिक अधिकारों का इस्तेमाल किया है’ पुलिस दोनों को गिरफ्तार कर अलीगढ़ के लिए रवाना हो गई थी.

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर अखिल भारत हिन्दू महासभा की राष्ट्रीय सचिव ने पति व अन्य पदाधिकारियों के साथ बापू की हत्या का स्वांग रचा था. इस मामले में थाना गांधी पार्क में पुलिस की ओर से पूजा व अशोक समेत दस लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था. पुलिस ने पिछले दिनों सात लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. वहीं पूजा और अशोक फरार चल रहे थे. दोनों ने कोर्ट में सरेंडर याचिका दायर कर दी थी. सरेंडर करने के बजाय दोनों पुलिस को भ्रमित करने के लिए कुंभ में अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने की घोषणा कर दी थी.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top