• छापामारी के दौरान पकड़ी गई किशोरी ने की दारोगा की शिकायत 
देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
रुड़की : एक लॉज पर छापामारी कर पकड़ी गई किशोरी ने दारोगा पर डरा धमकाकर दुष्कर्म करने के मामले में जांच पूरी होने के बाद एसएसपी के आदेश पर आरोपी दारोगा के खिलाफ सिविल लाइंस कोतवाली पुलिस ने दुष्कर्म, पॉक्सो एक्ट और धमकी देने का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

मामले की जांच एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय कर रही थीं। माना जा रहा है कि जल्द ही आरोपी दारोगा की गिरफ्तारी हो सकती है। पिछले साल अगस्त में सिविल लाइंस कोतवाली पुलिस ने दिल्ली-हरिद्वार हाईवे स्थित लॉज पर छापामारी कर एक किशोरी को बरामद किया था।

पुलिस को सूचना मिली थी कि किशोरी से जबरन देह व्यापार कराया जा रहा है। पुलिस ने लॉज से दो युवकों को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। वहीं, किशोरी ने पूछताछ में बताया था कि वह लखनऊ की रहने वाली है और उसे धोखे से यहां काम दिलाने के लिए लाया गया था।

किशोरी ने आरोप लगाया था कि सिविल लाइंस कोतवाली में तैनात दारोगा भी डरा धमकाकर उसके साथ दुष्कर्म कर रहा था। तत्कालीन एसएसपी कृष्ण कुमार वीके ने मामले में जांच के निर्देश दिए थे, लेकिन बाद में मामला दबा दिया गया और जांच रोक दी गई थी।

कुछ दिन पहले दोबारा शिकायत आने पर एसएसपी जन्मेजय प्रभाकर खंडूड़ी ने एसपी सिटी ममता वोहरा को मामले की जांच के आदेश दिए थे। इस बीच एसएसपी ने दारोगा को लाइन हाजिर कर दिया था। कुछ दिन पहले एसपी सिटी ममता वोहरा का स्थानांतरण होने के बाद जांच नवनियुक्त एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय को दी गई। हाल ही में उन्होंने जांच पूरी कर इसकी रिपोर्ट एसएसपी को सौंपी थी।

जांच में पीड़िता के बयानों की पुष्टि होने के बाद एसएसपी ने आरोपी दारोगा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए थे। एसएसपी के आदेश पर सिविल लाइंस कोतवाली में दारोगा के खिलाफ धमकी देने, दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। बताया जा रहा है कि जल्द ही आरोपी दारोगा को गिरफ्तार किया जाएगा। एसएसपी जन्मजेय प्रभाकर खंडूड़ी ने बताया कि दारोगा पर केस दर्ज कर लिया गया है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top