बैंकों से करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी कर भागे शराब कारोबारी विजय माल्या को भारत लाने का रास्ता साफ हो गया है. UK होम सेक्रटरी ने माल्या के प्रत्यर्पण आदेश पर हस्ताक्षर कर दिए हैं. आपको बता दें कि किंगफिशर एयरलाइंस के प्रमुख रहे 62 वर्षीय माल्या पर करीब 9,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और धन शोधन का आरोप है.

पिछले साल अप्रैल से प्रत्यर्पण वॉरंट के बाद से माल्या जमानत पर है. कुछ दिन पहले ही भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को जैसे अपने खिलाफ ऐक्शन का आभास हो गया था. उन्होंने दावा किया था कि उनकी कंपनी की 13,000 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति जब्त की जा चुकी है. माल्या ने सिलसिलेवार ट्वीट कर दावा किया था कि उसे कर्ज देने वाले बैंक ने इंग्लैंड में अपने वकीलों को उसके खिलाफ छोटे-मोटे मामले दर्ज करने की खुली छूट दी हुई है.

वह अपने खिलाफ मामले को राजनीति से प्रेरित बताते रहे हैं. माल्या ने अपनी दलील में ट्वीट कर कहा था, ‘मैंने एक भी पैसे का कर्ज नहीं लिया. कर्ज किंगफिशर एयरलाइंस ने लिया. कारोबारी विफलता की वजह से यह पैसा डूबा है. गारंटी देने का मतलब यह नहीं है कि मुझे धोखेबाज बताया जाए.’





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top