देहरादून : पौड़ी गढ़वाल के श्रीनगर से एक ऐसा मामला सामने आया है जिससे स्वास्थय विभाग की कार्यप्रणाली पर तो सवाल खड़े होते ही हैं लेकिन साथ ही उस डॉक्टर पर भी कई सवाल खड़े हो रहे हैं जिसे मरीजों का भगवान कहा जाता है.

जी हां मामला पौड़ी गढ़वाल के श्रीनगर राजकीय मेडिकल कॉलेज का है. जहां एक डॉक्टर नशे में इतने धुत हो गया कि वह कोतवाली को होटल समझ बैठा औऱ वहां कार लगाकर आराम फरमाने लगा. वहीं ड्यूटी में तैनात पुलिस अधिकारी-कर्मचारी की नजर उस पर गई तो उन्होंने उससे पूछताछ की और डॉक्टर का ड्रंक एंड ड्राइव के तहत चालान काटा। दूसरे दिन सुबह आकर दो अन्य डॉक्टर जमानत देकर अपने साथ ले गए।

एसआई महेश रावत भांप गए कि कार चालक नशे में डूबा है। पूछताछ में जानकारी मिली कि वह मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर है। उसको बड़ी मुश्किल से कार से बाहर निकालकर एल्कोमीटर से जांच की गई। जांच में पुष्टि होने पर ड्रंक एंड ड्राइव का केस दर्ज करते हुए कार को सीज कर दिया गया।  उक्त डॉक्टर पर पूर्व में भी ड्रंक एंड ड्राइव का केस दर्ज हो चुका है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top