कोच्चि के कई हिस्से लगातार दूसरे दिन धुएं की चादर में ढंके रहे, जिसके कारण आस-पास के इलाकों के निवासियों को सांस लेने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. शुक्रवार को यहां ब्रह्मापुरम अपशिष्ट संयंत्र में भीषण आग लग गई थी, जिसका धुआं अभी भी फैला हुआ है. इरमपम के निवासियों ने कहा, “हम धुएं के कारण लगातार दूसरे दिन दिक्कत से जूझ रहे हैं.

इसके कारण खांसी और युवाओं के साथ-साथ बुजुर्ग लोगों को सांस संबंधी समस्याएं हो रही हैं. हम चाहते हैं कि अधिकारी जल्द से जल्द इस समस्या का समाधान निकालें.” पनमपल्ली नगर, मरादु और वाइतिल्ला सबसे अधिक प्रभावित इलाके हैं.

एर्नाकुलम जिला कलेक्टर के. मोहम्मद वाई. सफीरुल्ला ने रविवार को मीडिया को सूचित किया कि यहां फेंके गए कूड़े के विशाल ढेर के नीचे अभी भी आग लगी हुई है, जिसके कारण धुएं की मोटी परत बन रही है.

उन्होंने कहा कि भारी भरकम उपकरण और 300 व्यक्ति कूड़े के ढेर की ऊपरी परत को हटाने का काम कर रहे हैं और आग को बुझाने के लिए कई उच्च दबाव पंपों का प्रयोग किया जा रहा है.

इस बीच, डंपिंग स्थल के समीप आस-पास के इलाकों में रहने वाले लोगों ने वहां कूड़ा फेंकने वाली सभी गाड़ियों को रोकने का फैसला किया है.

विरोध के बाद कोच्चि निगम ने अगले आदेश तक शहर के निवासियों से प्लास्टिक अपशिष्ट सामग्री नहीं लेने का फैसला किया है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top