प्रधानमंत्री मोदी द्वारा चलाए जा रहे एक अहम मिशन को उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद में पलीता लगाया जा रहा है. इस तरह स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) योजना के तहत बने शौचालय निर्माण में घटिया सामग्री लगाकर लोगों की जान से खिलवाड़ किया गया है. करीब डेढ़ साल पहले इस योजना के तहत बनाए गए एक शौचालय की छत अचानक गिर जाने से उसके मलबे में दबकर एक बुजुर्ग घायल हो गया. इस मामले में डीपीआरओ को मिली शिकायत के आधार पर ब्लाक स्तर से जांच शुरू कर दी गई है.

बीते शुक्रवार को स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) योजना के तहत बना एक शौचालय अचानक ढह गया था, जिसके बाद उसके मलबे में दबकर 80 साल के बुजुर्ग जीवन राम घायल हो गए थे. हादसे के समय जीवन राम सिंह उसके अंदर ही मौजूद थे, तभी शौचालय भरभरा कर गिर पड़ा. आनन फानन में उन्हें मुरादाबाद के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनका उपचार किया जा रहा है. इस हादसे के बाद पूरे देश में इस योजना के तहत चल रहे शौचालय निर्माण की गुणवत्ता को लेकर सवालिया निशान खड़े हो गए हैं.

घायल बुजुर्ग जीवन राम सिंह की पोती ने बताया, डेढ़ वर्ष पूर्व इस मिशन के तहत ग्राम प्रधान और सेक्रेटरी द्वारा उनका शौचालय बनवाया गया था. इसके निर्माण में घटिया सामग्री लगा कर ग्राम प्रधान और सेक्रेटरी ने पैसे खा लिए हैं. इस तरह निर्माण यदि हो रहा है तो यह चिंता का विषय है और ऐसा हादसा किसी के साथ भी हो सकता है इसके लिए पूरी तरह से जांच होनी चाहिए और जिम्मेदार लोगों पर कार्यवाही होनी चाहिए.

इस मामले में सोमवार को उपनिदेशक (पंचायत) महेंद्र सिंह ने कहा, इसके लिए हम कड़े कदम उठा रहे हैं. डीपीआरओ को मिली शिकायत के आधार पर इसके लिए जिम्मेदार लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top