समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव शनिवार को प्रयाग दौरे पर थे. इस दौरान वह पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवान महेश के घर पहुंचे. वहां उन्होंने शहीद के परिजनों से मिलकर उनको सांत्वना दी और हर सम्भव मदद का आश्वासन दिया. उन्होंने प्रदेश की योगी सरकार से उन्होंने 1 करोड़ मुआवजे की मांग की. यादव ने कहा कि पाकिस्तान को करारा जवाब देना चाहिए ताकि आतंकवाद पर लगाम लगाई जा सके.

अखिलेश ने पीएम नरेंद्र मोदी के कुंभ में आने पर चुटकी लेते हुए कहा कि जब सभी संत और कल्पवासी यहां से चले गए तो ऐसे में प्रधानमंत्री के यहां आने का क्या फायदा है. उन्होंने कहा कि अब आपकी जिम्मेदारी है कि आप भाजपा सरकार को करारा जवाब दें. बूथ सैनिक बनकर भाजपा की हार सुनिश्चित करें.

उन्होंने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में युवा नौजवान सोच समझ कर वोट की मशीन दबाएं और नए नेता का चुनाव करें तभी खुली हवा में देश का नौजवान किसान सांस ले सकता है.

सपा प्रमुख ने आरोप लगाया है, “उन्हें 12 फरवरी के प्रोग्राम में न जाने देने के लिए चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर जबरन रोका गया. छात्रों पर लाठियां चलवाई गयी. जिसमें पार्टी के सांसद धर्मेंद्र यादव भी घायल हो गए. इस मामले ने उत्तर प्रदेश की विधानसभा को हिलाकर रख दिया.”

अखिलेश ने बेरोजगारी पर मोदी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मोदी सरकार के पांच बरसों के कार्यकाल में नौजवानों के साथ धोखा किया गया. इसके बाद अखिलेश यादव फूलपुर के सांसद नागेंद्र पटेल के आवास पहुचे. जहां से उनका काफिला समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय जार्जटाउन आया जहां कार्यकर्ताओं से मुखातिब होने के बाद अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी से मिलने के बाद में संतों से भी मुलाकात की.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top