गूगल ने मंगलवार को कहा कि उन्हें इस बात का कोई सबूत नहीं मिला है कि उसका सर्च इंजन ‘दुनिया के सबसे अच्छा टॉयलेट पेपर’, ‘सबसे अच्छा चीन निर्मित टॉयलेट पेपर’ या केवल ‘टॉयलेट पेपर’ खोज करने पर पाकिस्तानी झंडे को दिखा रहा है.

गूगल के प्रवक्ता ने मीडिया से कहा, “इसकी जांच करने के दौरान हमें कोई सबूत नहीं मिला है जिसमें तस्वीरें इस विशेष खोज के जवाब में पाकिस्तानी झंडे को दिखा रही हों.”

प्रवक्ता ने कहा, “कई समाचार आउटलेट्स ने मीम वेबसाइट के एक पुराने स्क्रीनशॉट के बारे में लिखा है जो हमारे यूजर इंटरफेस (वह स्थान जहां मनुष्यों और मशीनों के बीच पारस्परिक क्रिया होती है) के साथ असंगत है और यह 2017 की घटना है. हमें इसका कोई सबूत नहीं मिला कि ये परिणाम कभी भी दिखाई दिए हैं.”

कई मीडिया रिपोर्ट्स में यह बात सामने आई थी कि 14 फरवरी को जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा हमले के बाद गूगल पर टॉयलेट पेपर सर्च करने पर पाकिस्तानी झंडा दिखाई दे रहा था.

सर्च रिजल्ट के स्क्रीन शॉट्स ट्विटर, इंस्टाग्राम और फोसबुक जैसे कई सोशल मीडिया साइट्स पर वायरल हो रहे थे.

वहीं, इससे पहले भी गूगल सर्च रिजल्ट्स में ‘फेकू’, ‘पप्पू’ और ‘इडियट’ जैसे शब्दों को खोजने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तस्वीरें सामने आईं थीं.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top