सोमवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि आज किसी को देश की चिंता नहीं है. उन्होंने कहा कि चुनाव नजदीक हैं और सबको वोट की चिंता है. उन्होंने कहा कि करीब एक महीने में देश में कुछ भी हो सकता है. तरह-तरह की चीजें हो सकती हैं. तरह-तरह के चुनावी हथकंडे देखने को मिलेंगे.

उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहा है, लोगों को वोट की चिंता सता रही है. किसी को देश की चिंता नहीं है.

पटना में पत्रकारों से चर्चा करते हुए पश्चिम बंगाल प्रकरण के विषय में पूछे जाने पर नीतीश कुमार ने प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया.

उन्होंने कहा, “मैं प्रारंभ से ही ऐसे मामलों पर टिप्पणी नहीं करता हूं. जो लोग ऐसा कर रहे हैं, वे ही इस पर टिप्पणी करेंगे. सब लोग अपने-अपने ढंग से काम करते हैं. हम लोग संवैधानिक व्यवस्था हो या कानूनी व्यवस्था हो, जो अच्छी परंपरा हो उसे ही अपनाकर चलते हैं. कौन क्या कर रहा है, उस पर कुछ कहने की आवश्यकता नहीं है.”

उन्होंने हालांकि यह जरूर कहा, ‘चुनाव आ रहा है. मार्च में कभी भी चुनाव की घोषणा हो जाएगी उसके बाद चुनाव आचार संहिता लागू हो सकती है. लगभग इस एक महीने में कुछ भी हो सकता है. ऐसे कई राजनीतिक हथकंडे देखने को खूब मिलेंगे. उसके बाद सब कुछ ठीक हो जाएगा.

‘संवैधानिक संस्थाओं में टकराव देश के लिए क्या सही है’, इस प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने कहा, “आज किसी को देश की चिंता है क्या? चुनाव नजदीक आ रहा है, सबको वोट की चिंता है. मेरा देश महान है और कुछ दिन के बाद यह सब कुछ ठीक हो जाएगा.”





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top