योगगुरु बाबा रामदेव ने कहा कि पाकिस्तान के साथ युद्ध के अलावा और कोई दूसरा रास्ता नहीं है. उन्होंने कहा कि युद्ध कब और कैसे करना है इसका निर्णय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेना है. बाबा रामदेव ने रविवार को ब्रह्मलीन जगद्गुरु रामानंदाचार्य हंसदेवाचार्य के अस्थि विसर्जन कार्यक्रम के बाद पत्रकार वार्ता में कहा कि बिना क्रांति के देश दुनिया में शांति की स्थापना नहीं हो सकती है. युद्ध के बाद ही बुद्ध पैदा हुआ. सम्राट अशोक जिसको हम आर्दश मानते हैं वह भी युद्ध की उपज हैं. इसलिए युद्ध करना चाहिए. बिना युद्ध के पाकिस्तान को सबक नहीं सिखा सकते हैं.

उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि लातों के भूत बातों से नहीं मानते. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि हमारी पाकिस्तान की आवाम से कोई दुश्मनी नहीं है. वे लोग इतने नादान हैं. उन्होंने कहा कि युद्ध कब और कैसे होगा यह प्रधानमंत्री को तय करना है. लेकिन निर्णय में देरी नहीं होनी चाहिए. रोज-रोज की शहादत से आरपार की लड़ाई श्रेष्ठ है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से बात करते हुए 70 साल हो गए. 50 हजार से अधिक लोग शहीद हो गए. अब बातचीत का कोई मतलब नहीं रह गया है.

बाबा रामदेव ने कहा कि चुनाव से बड़ा देश है. देश के लिए जो करना है प्रधानमंत्री को करना है. हमारी लड़ाई देशद्रोहियों से, उनको सपोर्ट और तैयार करने वालों से है. कश्मीर के छात्रों के साथ बदसलूकी हमारी एकता अखंडता के खिलाफ है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top