मंगलवार की दोपहर संसद परिसर में उस वक्त अफरा-तफरी मंच गई जब एक सांसद  की कार बैरिकेडिंग से टकरा गई. इसके के बाद एकाएक अलार्म बज उठा. इसके बाद सुरक्षा कर्मी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैनात हो गए.

जानकारी के मुताबिक, पूरी तरह से कार की चैकिंग करने के बाद जब जांच एजेंसियों ने अलार्म बजने की घटना को महज कार चालक से हुई चूक करार दिया, जिसके बाद सुरक्षा में तैनात जवानों ने राहत की सांस ली.

बता दें कि संसद पर आतंकी हमला देख चुके कर्मचारी और सुरक्षाबल मंगलवार दोपहर एकाएक संसद परिसर में सुरक्षा अलर्ट अलॉर्म बजने से सजग हो गए. संसद में अलग-अलग जगहों पर तैनात जवानों ने अपनी पोजिशन ले ली. दिल्ली में आतंकी हमले के खुफिया एजेंसियों के अलर्ट के बाद एकाएक संसद परिसर में सुरक्षा अलर्ट बजने पर तैनात कुछ कर्मचारी घबरा गए.

मामले की जांच शुरू हुई तो सामने आया कि एक सांसद की कार संसद परिसर में सुरक्षा के लिए लगाए गए बैरिकेडिंग से टकरा गई थी. इस कार के टकराने के साथ ही सुरक्षा अलर्ट के लिए लगा अलार्म बज उठा, जिससे सुनने के बाद सुरक्षा बल अलर्ट हो गए थे.

बहरहाल, पूरे मामले का सच सामने आने के बाद सुरक्षा बलों ने राहत की सांस ली. प्रारंभिक जानकारी के अनुसार, यह कार मणिपुर से कांग्रेस सांसद डॉ ठोकचोम मेनिया की है. इस घटना की जांच सुरक्षा के अधिकारी कर रहे हैं.

साभार -हरिभूमि





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top