कोटद्वार कोटद्वार की कोतवाली पुलिस स्मैक जैसे गंभीर नशे के खिलाफ अभियान चलाकर खत्म करने के बड़े-बड़े दावे करती नजर आती है। परंतु कोटद्वार की सड़कों में नजारा कुछ और ही  कहता है। स्मैक और अन्य नशे की लत में पड़े युवक सड़कों पर खुलेआम आपस में मारपीट और चाकू बाजी करने से भी नहीं चूक रहे हैं। कोतवाली से मात्र 200 मीटर की दूरी पर हुई इस घटना ने चाकू लहराने की इस घटना से लोगों में दहशत फैल गई। पुलिस द्वारा इस घटना पर कोई कार्यवाही ना करना पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान खड़े करता है।

चारों युवकों को पुलिस ने बिना कार्यवाही किए ही छोड़ा

बता दें यह घटना कोटद्वार के सबसे व्यस्ततम इलाके झंडा चौक के निकट की है। जहां चार युवक नशे में धुत होकर आपस में मारपीट करने लगे और एक दूसरे पर चाकू से हमला करने की कोशिश भी की, जिससे बाजार में दहशत का माहौल बन गया। काफी हंगामे के बाद मौके पर पुलिस पहुंची और हंगामा करने वाले युवकों को चौकी ले गई। हद तो तब हो गई जब चारों युवकों को पुलिस ने बिना कार्यवाही किए ही छोड़ दिया।

एएसपी प्रदीप राय का बयान

वहीं जब इस मामले एएसपी प्रदीप राय से पूछा गया तो उनका कहना था कि दोनों पक्षों के लोग आए और आपस में समझौता कर के चारों युवकों को ले गए। और साथ ही कहा कि जो वीडियो वायरल हुई है उसकी जांच कराई जाएगी और तब कार्यवाही की जाएगी।

पुलिस को किसका खौफ

बड़ा सवाल ये है कि आखिर पुलिस को किस का खौफ है…पुलिस क्यों इन पर कोई कार्रवाही नहीं कर रही…क्या पुलिस कोई अनहोनी होने का इंतजार कर रही है…क्योंकि वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है चारों युवक मारपीट कर रहे हैं और युवक के हाथ में चाकू भी है. फिर भी पुलिस वीडियो की जांच की बात कर रही है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top