प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रविवार को जम्मू एवं कश्मीर के एकदिवसीय दौरे से पहले शनिवार को राज्य की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. मोदी यहां तीन क्षेत्रों जम्मू, लद्दाख और कश्मीर घाटी का दौरा करेंगे. वह 35 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे और नौ हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उद्धघाटन करेंगे.

प्रधानमंत्री के दौरे के लिए बहु स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम किया गया है. प्रधानमंत्री के विशेष सुरक्षा दस्ते (एसपीजी) की एक टीम ने दौरे के लिए निर्धारित सभी स्थलों को अपने दायरे में ले लिया है.

मोदी की जनसभा के लिए सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए सुरक्षा बलों ने सांबा जिले में तीन दिनों तक खोज अभियान चलाया. मोदी रविवार को विजयपुर में जनसभा को संबोधित करेंगे. इसके अलावा, पठानकोट से जम्मू तक अंतर्राष्ट्रीय सीमा से सटे सभी इलाकों पर बारीकी से नजर रखा जा रहा है. सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान सतर्कता के साथ अंतर्राष्ट्रीय सीमा की रक्षा कर रहे हैं.

जम्मू शहर में पिछले तीन दिनों से यात्रियों की तलाशी और मोबाइल की जांच के लिए केंद्र स्थापित किए गए हैं. श्रीनगर में सुरक्षा बलों ने शुक्रवार को शहर के केंद्र लाल चौक में तलाशी अभियान चलाया. प्रधानमंत्री के दौरे से पहले अधिकारियों ने शनिवार को वरिष्ठ अलगाववादी नेता मिरवाइज उमर फारूक को नजरबंद कर दिया है.

सैयद अली गिलानी, मिरवाइज उमर फारूक और मोहम्मद यासिन मलिक की अध्यक्षता वाले एक अलगाववादी समूह ज्वाइंट रेजिस्टेंस लीडरशिप (जेआरएल) ने रविवार में घाटी बंद का आह्वान किया है. अपने दौरे के दौरान मोदी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), आईआईएम, आईआईटी, जम्मू-अखनूर रोड, शाहपुर-कांडी रोड, सुंदरबनी कॉलेज और जम्मू में आईआईएमसी की आधारशिला रखेंगे.

वह जम्मू खंड के कठुआ जिले में एक इंजीनियरिंग कॉलेज का भी उद्धघाटन करेंगे. मोदी सांबा जिले के विजयपुर में एक जनसभा को संबोधित करेंगे. इसके साथ ही मोदी राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार की शुरुआत करेंगे.

देश के प्रधानमंत्री के रूप में पदभार संभालने के बाद मोदी ने 10 बार जम्मू एवं कश्मीर का दौरा किया है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top