• मौसम के बाद बर्फ से ढके गांवों में परेशानियां बरकरार
  • बर्फवारी के चलते चालीस से ज्यादा गांवों में अभी भी बिजली आपूर्ति बाधित 

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून।  मौसम का मिजाज उत्तराखंड में एक बार फिर बदलने की चेतावनी मौसम विभाग ने जारी की है। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में भारी बारिश और बर्फबारी आसार बताया गया है। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार और गुरुवार को पर्वतीय क्षेत्रों में दो हजार मीटर की ऊंचाई तक के क्षेत्रों में भारी हिमपात की बात कही है। वहीं मौसम विभाग की चेतावनी के बाद प्रदेश शासन ने सूबे के पर्वतीय जिलों के जिलाधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं। मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार रात तक हल्की बारिश और बर्फबारी के आसार हैं।

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ (वेस्टर्न डिस्टर्बेंस) की सक्रियता के कारण अगले तीन दिन मौसम की दृष्टि से अति संवेदनशील हैं। इसी के मद्देनजर प्रदेश में रेड अलर्ट जारी किया गया है। मौसम के अलर्ट के बाद शासन ने गाइड लाइन जारी कर सलाह दी है कि अत्यधिक ऊंचाई पर बसे गांव के लोग यदि संभव है तो फिलहाल निचले स्थानों पर शिफ्ट हो जाएं। शासन ने बर्फबारी वाले इलाकों की यात्रा टालने की भी सलाह दी है।

वहीं पिछले कई दिनों से बंद जोशीमठ से औली मार्ग को भी खोल दिया गया है। भारी बर्फबारी के बाद से यह मार्ग करीब एक पखवाड़े से बंद था। उत्तरकाशी के जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने बताया कि गंगोत्री हाईवे पर से भी बर्फ हटा दी गई है, लेकिन सुरक्षा की दृष्टि से फिलहाल यहां सेना के वाहनों को ही आने-जाने की अनुमति दी गई है।

प्रदेश में बदले मौसम के बाद बर्फ से ढके गांवों में परेशानियां बरकरार हैं। प्रदेश के बर्फ से पूरी तरह पटे चालीस से ज्यादा गांवों में अभी भी बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो पाई है। जबकि आधा दर्जन सड़कों पर अभी भी आवागमन भी बाधित है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top