जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं वैसे- वैसे राजनीतिक दलों में सियासी हलचल जारी है. लोकसभा चुनाव 2019 से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को बड़ा झटका लग सकता है. पीएम मोदी की अगुवाई वाली सरकार में स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण राज्‍य मंत्री और अपना दल (एस) की अनुप्रिया पटेल ने इसके संकेत दिए हैं कि पार्टी अब अपना रास्‍ता खुद चुन लेगी.

बता दें कि भाजपा और अपना दल (एस) के बीच अनबन की अटकलें पिछले काफी समय से लगाई जा रही हैं. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक अनुप्रिया पटेल ने कहा कि भाजपा के साथ हमें कुछ समस्याएं आई और उसको हमने शीर्ष नेतृत्व के सामने रखा और 20 फरवरी तक का समय दिया कि इन समस्याओं का समाधान करें. लेकिन उन्होंने इन समस्याओं का समाधान नहीं किया.

उन्होंने आगे कहा कि इससे यह प्रतित होता है कि भाजपा को शियकातों से कोई लेना देना नहीं है और समस्याओं के समाधान में कोई रुचि नहीं है. इसलिए अपना दल अपना रास्ता चुनने के लिए अब स्वतंत्र है. हामारी पार्टी की बैठ हमने बुला ली है. पार्टी जो तय करेंगी वो हम करेंगे. मालूम हो कि अपना दल (एस) एनडीए की सहयोगी पार्टी है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अनुप्रिया पटेल ज्योतिरादित्य सिंधिया और अहमद पटेल से भी मिल चुकी हैं और वह प्रियंका गांधी वाड्रा के संपर्क में हैं.

गौरतलब है कि अनुप्रिया पटेल ने हाल ही में कहा था कि हमरी जो मांगें हैं वो सभी भाजपा के सामने रख दी है. अगर मांगे नहीं मानी गई तो गठबंधन पर मंथन होगा और अपना दल स्वतंत्र होकर फैसला लेगा.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top