जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर हुए हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली ‘समझौता एक्सप्रेस’ से आने वाले यात्रियों की संख्या घट गई है. हमले में 40 जवान मारे गए थे.

रेल मंत्रालय के अनुसार, दिल्ली-लाहौर समझौता एक्सप्रेस, जिसे दिल्ली-अटारी एक्सप्रेस के नाम से भी जाना जाता है इससे आने वाले यात्रियों की संख्या में भारी कमी आई है. सोमवार को मुश्किल से 100 यात्री ही इससे आए.

ट्रेन में छह स्लीपर कोच और एक एसी 3-टियर कोच है. हालांकि, ट्रेन जब भारत की अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर पंजाब के अटारी रेलवे स्टेशन पहुंची तो अधिकांश स्लीपर कोच खाली थे और महज कुछ यात्री ही मौजूद थे. दिल्ली में मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि यात्रियों की संख्या में भारी गिरावट आई है.

उन्होंने कहा, आम दिनों में दोनों ओर से समझौता एक्सप्रेस में हर बार 1,000 से अधिक यात्री यात्रा करते है. ट्रेन पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से सप्ताह में दो दिन बुधवार और रविवार को रात 11.10 बजे रवाना होती है. लाहौर से अपनी वापसी यात्रा पर ट्रेन सोमवार और गुरुवार को भारत आती है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top