बदलते समय व राजनीति के लिए अपनी तैयारी का संकेत देते हुए बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को घोषणा की कि वह सोशल मीडिया पर सक्रिय रहेंगी. पार्टी ने एक बयान में यह जानकारी दी.

मायावती 22 जनवरी को ट्विटर पर शामिल हुई. उन्होंने अपने पहले ट्वीट में कहा, हेलो, भाइयों और बहनो. मैं आदर सम्मान के साथ ट्विटर परिवार से खुद का परिचय करा रही हू. मायावती ने अपने पहले संदेश में कहा, भविष्य की बातचीत, टिप्पणी मेरे आधिकारिक ट्विटर हैंडल ‘एट दि रेट सुश्रीमायावती’ पर होगी.

अपने स्वागत पोस्ट के कुछ मिनटों बाद उन्हें हजारों लाइक मिले. मायावती के 9,759 फालोवर्स है, जिसके उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री के जारी बयान के बाद बढ़ने की उम्मीद है. मायावती ‘जनता व मीडिया से त्वरित बातचीत’ के लिए माइक्रो ब्लॉगिंग साइट से जुड़ी है.

बसपा के एक बयान में कहा गया, उनके आधिकारिक ट्विटर अकांउट का इस्तेमाल राष्ट्रीय व राजनीतिक महत्व के विभिन्न मुद्दों पर उनकी राय जाहिर करने के लिए किया जाएगा.

मायावती अब तक पुरानी तरह की राजनीतिक शैली को जारी रखे थीं, जिसमें बंद कमरों में बैठक व पार्टी नेताओं व सहयोगियों के साथ बैठकें शामिल थी. मायावती (63) अब तक मीडिया से भी दूरी बनाए रखने में कामयाब रही थी.

हालांकि, आखिरकार ऐसा लगता है कि उनको सोशल मीडिया पर आने की सलाह दी गई है, जिसका उनके लाभ के लिए इस्तेमाल हो सकता है. समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष व बसपा के सहयोगी अखिलेश यादव 2014 से ट्विटर पर सक्रिय बने हुए है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top