नकुल पंत | चम्पावत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट पंचेश्वर बांध को बनने में कितना समय लगेगा ये तो कोई नही जानता पर सरयू नदी पर बने झूला पुल की हालत कब सुधरेगी यह जरूरी है. जिला चम्पावत के पंचेश्वर में बना झूलापुल जीर्णशीर्ण हालत में है. बार बार ग्रामीणों के कहने बाद भी प्रशासन आंखे मूंद कर बैठा है. लोगों को दूर गांवों ,तथा मंदिर के दर्शन करने में हर वक्त पुल का खतरा सताता रहता है.

पुल के हालात तो दूर मंदिर जाने वाले श्रद्धालुओं के चलने के लिए रास्ता बेहद उबड़-खाबड़ है.पूर्व से ही ग्रामीणों द्वारा पुल की मरम्मत करने की मांग उठाई जा रही है लेकिन सत्ता की सनक में बैठे नेताओं को कोई असर नहीं. ग्रामीणों का कहना है कि झूला पुल से सेल, तडेमियां, सल्ला, आदि स्थानों के ग्रामीण अपनी जान हथेली में रख पुल से आवागमन करने को मजबूर हैं.

पंचेश्वर में पुल के पार दूसरी तरफ चौखाम बाबा का मंदिर स्थित है. लोगों के आस्था का केंद्र शिव मंदिर जहां हर वर्ष हजारों श्रद्धालु दर्शन करने आते हैं . पुल की जर्जर स्थिति को देख उन्हें भी डर कर गुजरना पड़ रहा है. आंखिर कोई अनजान हादसा होगा क्या तब मूक प्रशासन जागेगा.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top