मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास में नॉर्वे के राजदूत निल्स राग्नार एवम् उनके साथ आए प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात कर विभिन्न मुद्दों पर पारस्परिक सहयोग के लिए विस्तार से विचार विमर्श किया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के विकास में नार्वे की तकनीकी और अन्य विशेषज्ञताओं का लाभ लिया जा सकता है.

उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में फिशरीज, ऊर्जा और टनल निर्माण में नॉर्वे की विशेषज्ञता का लाभ लिया जा सकता है. उन्होंने सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि नाॅर्वे के साथ इन सभी मुद्दों पर समयबद्ध तरीके से सम्भावनाएं तलाशी जाएं. नार्वे के राजदूत राग्नार ने बताया कि टनल निर्माण और फिशरीज के क्षेत्र में नाॅर्वे वल्र्ड लीडर है.

उत्तराखण्ड में फिशरीज के क्षेत्र में बहुत संभावनाएं हैं. उन्होंने टनल निर्माण के क्षेत्र में भी सहयोग की बात कही. इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश, प्रमुख सचिव मती मनीषा पंवार, सचिव आर. मीनाक्षी सुंदरम, द्वितीय सचिव रॉयल नॉर्वे एम्बेसी मार्टा गोर्ट्ज (डंतजं ळवतज्र), मार्केट एडवाइजर अवनीश वर्मा एवं वाणिज्यिक परामर्शदाता हेल्गे ट्रीटी (भ्मसहम ज्तलजप) उपस्थित थे.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top