शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने अंतरिम बजट की आलोचनाओं को खारिज करते हुए कहा कि किसानों के लिए आय योजना और प्रत्यक्ष कर में बदलाव की इस समय सख्त जरूरत थी. उन्होंने कहा कि इससे उपभोक्ताओं के खर्च में बढ़ोतरी होगी जिससे अर्थव्यवस्था में तेजी आएगी. बजट को चुनाव-केंद्रित बताए जाने पर उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है.

जेटली ने कहा कि बजट में जिन उपायों की घोषणा की गई है वे पिछले पांच साल में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के अनुरूप हैं.

उन्होंने कहा, “मैं प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करों के बीच कृत्रिम अंतर को पूरी तरह खारिज करता हूं. किए गए बदलाव से अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन मिलेगा. क्या यह इस वक्त जरूरी नहीं था? मैंने पहले ही इन आलोचकों को नकारात्मकता का नवाब कहा है. घोषणा किए गए उपायों से उपभोग बढ़ेगा और अप्रत्यक्ष कर के रूप में पैसा वापस आएगा.”

वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से न्यूयार्क से संवाददाताओं से बातचीत के दौरान जेटली ने एक सवाल के जवाब में कहा, “27 लाख करोड़ रुपये के बजट में 18,000 करोड़ (आयकर सौगात के रूप में प्रदान की गई रकम) क्या है.”

जेटली इलाज के सिलसिले में इन दिनों अमेरिका में हैं और सर्जरी के बाद वह स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top