भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने चालू वित्त वर्ष की अंतिम मौद्रिक नीति समीक्षा में, गुरुवार को रेपो रेट को घटाकर 6.25 प्रतिशत कर दिया. रेपो रेट वह दर होती है जिस पर आरबीआई बैंकों को कर्ज देता है.

आरबीआई ने कहा कि यह फैसला उभरती हुई व्यापक आर्थिक स्थिति के आकलन के आधार पर किया गया है.

एएनआई के मुताबिक, रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट की ब्याज दरों को कम किया है. मौद्रिक समीक्षा नीति ने बैठक के बाद ऐलान किया कि आरबीआई ने रेपो रेट 6.5 से घटाकर 6.25 प्रतिशत कर दिया.

वहीं दूसरी तरफ आरबीआई ने रिवर्स रेपो रेट भी घटाकर 6.00 प्रतिशत कर दिया. रेपो रेट में कटौती होने से आम आदमी को राहत मिलेगी. क्योंकि ईएमआई देने वालों को ब्याज कम देना होगा.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top