प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को यवतमाल में कहा कि सुरक्षा बलों को कोई भी कदम उठाने के लिए खुली छूट दे दी गई है इसलिए पुलवामा में आतंकवादी हमला करने वाले आतंकवादी संगठन छिप नहीं सकते और उन्हें सजा दी जाएगी. पुलवामा में गुरुवार को हुए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 49 जवान शहीद हो गए.

हमले में शहीद हुए महाराष्ट्र के दो जवानों और अन्य जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए मोदी ने कहा कि देश को अपने सैनिकों और सुरक्षा बलों पर विश्वास और गर्व है और उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा.

यहां एकत्रित हुए किसानों और महिलाओं के नारों के बीच मोदी ने कहा, “आतंकवादी संगठन और अपराधी कहीं भी छिप जाएं, हमारे सुरक्षा बल उन्हें ढूंढ निकालेंगे और उन्हें दंडित करेंगे.”

उन्होंने कहा कि ये कब और कैसे होगा, यह फैसला सुरक्षा बलों पर छोड़ दिया गया है. मोदी ने लेकिन साथ ही देश की जनता से धैर्य रखने और सुरक्षा बलों पर विश्वास कायम रखने की अपील की क्योंकि दोषियों को किसी भी कीमत पर छोड़ा नहीं जाएगा.

जम्मू एवं कश्मीर में 1989 में आतंकवाद के सिर उठाने के बाद पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर हुए सबसे घातक आतंकवादी हमले में जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से भरी अपनी एसयूवी को सीआरपीएफ की एक बस में टक्कर मार दी थी जिसमें अब तक 49 जवान शहीद हो चुके हैं और कई जवान घायल हो गए हैं.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top