पुलवामा आतंकी हमले में देश ने 40 जवान खोए…जिन्हे बचाया जा सकता था अगर 10 दिन पहले मिले अलर्ट को गंभीरता से लिया होता औऱ जवानों को मांग के अनुसार हवाई सुविधा दी होता. पुलवामा आतंक हमले में जवानों पर इस तरह से कायराना हमला किया गया कि जवानों के चीथड़े-चीथड़े मिले…जिससे लोगों में खासा रोष औऱ गुस्सा है…लोगों ने सड़कों पर उतरकर पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगए.

जवानों को हवाई जहाज से आने-जाने की सुविधा

वहीं जवानों की सुरक्षा को देखते हुए केंद्र सरकार ने आज बड़ा एलान किया है। जी हां रिपोर्ट्स के मुताबिक गृह मंत्रालय ने जानकारी दी है कि अब जवानों को हवाई जहाज से आने-जाने की सुविधा मिलेगी। गृह मंत्रालय ने केंद्रीय सशस्त्र अर्धसैनिक बलों के सभी जवानों की दिल्ली-श्रीनगर, श्रीनगर-दिल्ली, जम्मू-श्रीनगर और श्रीनगर-जम्मू क्षेत्रों में हवाई यात्रा की मंजूरी दी है।

7 लाख 80 हजार जवानों को मिलेगा इसका फायदा 

सरकार के इस एलान के बाद 7 लाख 80 हजार जवानों को इसका फायदा मिलेगा। इसमें कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल और एएसआई को भी शामिल किया गया है। बता दें पहले इन्हें इस सुविधा से बाहर रखा गया था। अब जवानों को श्रीनगर से छुट्टी पर जाने और छुट्टी से लौटने पर भी हवाई यात्रा की सुविधा मिल सकेगी।

गौरतलब है कि पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादी हमला हुआ था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले के तुरंत बाद मोदी सरकार ने पाकिस्तान के खिलाफ बड़ा एक्शन लेते हुए पाक से मोस्ट फेवर्ड नेशन (एमएनएफ) का दर्जा वापस लेने का एलान किया, जो पाकिस्तान को 1996 में मिला था।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top