देहरादून : बीते दिनों जहां कर्मचारियों ने अपनी 10 सूत्रीय मांगों को मनवाने को लेकर सामूहिक अवकाश पर रहने का ऐलान किया तो वहीं सरकार ने भी सख्ती दिखाते हुए राज्य में नो वर्क नो पे का नियम लागू किया था. बावजूद इसके साढ़े तीन लाख कर्मतारी प्रदेश में सामूहिक अवकाश पर थे…अगले दिन कैबिनेट में उनकी मांगों पर फैसला हुआ और कर्मचारियों ने सोचा सरकार नरम हो गई है औऱ ज्यादा से ज्यादा एक दिन का वेतन काटेगी लेकिन हुआ इसके उलट.

सामूहिक अवकाश पर रहे कर्मचारियों का जनवरी महीने का वेतन रोका

जी हां सरकार ने एक बार फिर सख्त रवैया अपनाते हुए सामूहिक अवकाश पर रहे कर्मचारियों का जनवरी महीने का वेतन रोक दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कर्मचारी शिकायत कर रहे हैं कि उनका पूरे माह का वेतन रोका गया है। वहीं ऊधमसिंह नगर और टिहरी जिला प्रशासन ने ऐसे कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस तक जारी किए हैं।

एक बार फिर कर्मचारी नाराज

एक ओऱ जहां सरकारी कर्मचारियों में अपनी मांगों को मनवाने को लेकर नाराजगी थी तो एक बाऱ फिर कर्मचारियों का गुस्सा सातवे आसमान में चढ़ गया है. सरकार के इस फैसले से कर्मचारियों में भारी नाराजगी है।

70 प्रतिशत कर्मचारियों का वेतन जारी हो गया है- वित्त सचिव 

उधर, सचिव वित्त अमित सिंह नेगी का कहना है कि सोमवार को 70 प्रतिशत कर्मचारियों का वेतन जारी हो गया है। आहरण वितरण अधिकारियों की रिपोर्ट आने के बाद बाकी कर्मचारियों का भी वेतन जारी हो जाएगा। लेकिन जानकारी के मुताबिक आंदोलन टलने के बाद उन सभी कर्मचारियों को जनवरी महीने का वेतन नहीं पहुंचा, जो सामूहिक अवकाश पर रहे थे।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top