शनिवार को ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में अपोलो अस्पताल में आग लगने से वहां मरीजों और उनके तीमारदारों में हड़कंप मच गया. हालांकि इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. घटना के बाद राज्य पुलिस यह जांच कर रही है कि क्या अस्पताल में अग्नि सुरक्षा प्रोटोकॉल का उपयोग किया गया था.

सूत्रों के अनुसार, अस्पताल की पांचवीं मंजिल पर कुछ तीमारदारों ने एक कमरे से धुआं निकलते देखा. उन्होंने अस्पताल प्रशासन को इसकी जानकारी दी.

सूचना मिलने पर, अग्निशमन विभाग की दो गाड़ियों ने घटनास्थल पर पहुंचकर आग पर काबू पाया. हॉस्पिटल प्रशासन ने बताया कि आग हॉस्पिटल के बैटरी कक्ष में लग गई थी. हालांकि आग का अभी उचित कारण पता नहीं चल सका है.

ज्यादातर मरीजों, खासकर सघन निगरानी कक्ष (आईसीयू) में भर्ती मरीजों को तत्काल निकाला गया. कुछ मरीजों को शहर के अन्य अस्पतालों में भर्ती कराया गया. पुलिस आयुक्त सत्यजीत मोहंती ने कहा, “सभी मरीजों को पांचवीं मंजिल से निकाल लिया गया है. धुएं को निकालने के लिए कांच की खिड़कियों को तोड़ दिया गया है. धुएं से किसी मरीज को परेशानी नहीं हुई.”





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top